उन्नाव की बेटी ने जांच अधिकारी को दिया बयान, जल्द होगा जुर्म का पर्दाफाश

कानपुर: उन्नाव (Unnao) के थाना असोहा क्षेत्र की पीड़ित किशोरी का इलाज कानपुर के रीजेंसी हॉस्पिटल में चल रहा है। किशोरी की हालत में धीरे-धीरे सुधार आ रहा है। अस्पताल के डॉक्टरों ने पीड़िता को वेंटिलेटर से हटा दिया है। घटना की जानकारी हासिल करने के लिए मंगलवार की शाम उन्नाव पुलिस ने पीड़िता का बयान दर्ज किए। उन्नाव (Unnao) से आई महिला जांच अधिकारी को किशोरी ने आपबीती बताई। जांच अधिकारी के मुताबिक जल्द ही वारदात के रहस्यों से पर्दा हट जाएगा।

जानिए पूरा मामला

बीते बुधवार को उन्नाव (Unnao) के असोहा गांव की रहने वाली तीन लड़कियों के हाथ-पांव बंधे हुए मिले थे। मामले की जानकारी होने पर परिजन और ग्रामीण मौके पर पहुंचे थे, लेकिन तब तक दो लड़कियों की घटनास्थल पर ही मौत हो चुकी थी। वहीं, एक लड़की बेहोशी की हालत में पड़ी हुई थी। बेहोश लड़की को पुलिस प्रशासन द्वारा पहले कानपुर के हैलट अस्पताल भेजा गया। यहां हालत में सुधार ना होने पर पीड़िता को रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

सीएम योगी ने भेजी विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम

इस घटना को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने गंभीरता से लेते हुए केजीएमयू के विशेषज्ञ चिकित्सकों की एक टीम कानपुर के लिए भेजी थी, ताकि लड़की की देखरेख में किसी भी प्रकार की कमी न रहे। वह जल्द ही स्वस्थ हो सके।

आईजी पहले ही कर चुकी हैं खुलासा

आईजी लखनऊ रेंज लक्ष्मी सिंह ने शुक्रवार को मीडिया के सामने वारदात का खुलासा करते हुए दावा किया था कि दोनों किशोरियों की हत्या एकतरफा प्यार के चलते हुई थी। साथ ही वारदात को अंजाम देने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया था, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। मामले को लेकर अब मजिस्ट्रेट भी पीड़ित किशोरी का बयान लेंगे।

यह भी पढ़ें: हो रहे हैं बालों के झड़ने से परेशान तो जानिए कैसे रखें ख्याल

Related Articles

Back to top button