उन्नाव गैंगरेप : कुलदीप सिंह सेंगर की मुसीबत बढ़ी, सीबीआई ने दर्ज किया चौथा केस

लखनऊ। उन्नाव गैंगरेप मामले में सीबीआई की कार्रवाई जारी है। सीबीआई ने अपनी चौथी एफआईआर सोमवार को दर्ज कर ली। यह एफआईआर हाईकोर्ट के निर्देश के बाद सीबीआई ने दर्ज की है। सीबीआई इस मामले की भी जांच करेगी।

उन्नाव गैंगरेप

आपको बता दें कि हाईकोर्ट ने अपहरण और गैंगरेप मामले के पहले 20 जून 2017 को पीड़िता की मां ने दर्ज करवाए गए एक मामले की भी जांच करने के निर्देश दिए थे। सीबीआई ने माखी थाने में दर्ज एफआईआर के आधार पर केस दर्ज किया है।

इस मामले में आरोप है कि शशि सिंह के बेटे शुभम सिंह और अवधेश तिवारी के पीड़िता को बहला-फुसलाकर भगा कर ले गए थे जिसके बाद उसका गैंगरेप हुआ। इस मामले में धारा 376 D को जोड़ते नरेश तिवारी व दो अन्य लोगों गैंगरेप का आरोपी बनाया गया।

अब सीबीआई नए और पुराने विवादों की कड़ियों को आपस में जोड़ने में लगी है। इससे पहली सोमवार को रेप पीड़िता का सीबीआई की विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने 164 के तहत कलमबंद बयान दर्ज कराया गया। बयान दर्ज कराने के बाद सीबीआई पीड़िता को अपनी सुरक्षा में लेकर चली गई।

सीबीआई आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर, शशि सिंह और पीड़िता को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ कर सकती है। इस मामले में सीबीआई शशि सिंह की भूमिका को लेकर भी जांच कर रही है। मामले की सत्यता की जांच करने एक लिए आमने-सामने बिठाकर पूछताछ करना चाहती है।

वहीं इससे पहले सीबीआई ने आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उसके सहयोगी शशि सिंह से भी पूछताछ की है। इससे पहले, शनिवार की शाम विधायक कुलदीप सेंगर को कोर्ट के सामने पेश किया गया। सीबीआई ने कोर्ट से कुलदीप सिंह की 14 दिन की रिमांड मांगी थी लेकिन कोर्ट ने सिर्फ 7 दिन की रिमांड दी।

Related Articles