नाइजीरिया में नहीं खत्म हुई अशांति, 51 आम नागरिकों और 18 सुरक्षाकर्मियों की मौत

नाइजीरिया से एक बड़ी खबर आ रही है जिसमे कई दिनों तक पुलिस की बर्बरता के खिलाफ हो रहे शांतिपूर्ण प्रदर्शनों के बाद भड़की हिंसा में कम से कम 51 आम नागरिकों और 18 सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई।

नाइजीरिया : नाइजीरिया से एक बड़ी खबर आ रही है जिसमे कई दिनों तक पुलिस की बर्बरता के खिलाफ हो रहे शांतिपूर्ण प्रदर्शनों के बाद भड़की हिंसा में कम से कम 51 आम नागरिकों और 18 सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई। नाइजीरिया में भड़की हिंसा के बाद हुई मौते के मामले में राष्ट्रपति मुहम्मदू बुहारी ने इस बात की पुष्टि करते हुए ‘उपद्रव’ को जिम्मेदार ठहराया है।

राष्ट्रपति मुहम्मदू बुहारी ने कहा, भड़की हिंसा को सुरक्षा बलों ने बहुत ही धैर्य के साथ संभाला है। राष्ट्रपति की टिप्पणियों के बाद अफ्रीका के सबसे अधिक जनसंख्या वाले देश में तनाव और बढ़ सकता है। मानवाधिकार संगठन ‘एमनेस्टी इंटरनेशनल’ ने कहा कि मंगलवार की रात सैनिकों ने कई राउंड गोलियां चलाईं जिसमे 12 प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई। इस घटना के बाद से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इसकी काफी निंदा हो रही है।

ये भी पढ़े : डोनाल्ड ट्रम्प ने फ्लोरिडा में किया मतदान, कहा ‘मैंने ट्रंप नामक एक व्यक्ति को वोट दिया’

बुहारी ने कहा कि ‘दंगाइयों’ ने गुरुवार तक 11 पुलिसकर्मियों और सात सैनिकों की हत्या की और अभी तक फैली ‘अशांति थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस हिंसा में अन्य 37 आम नागरिक घायल हो गए हैं। राष्ट्रपति ने कहा कि शांतिपूर्ण तरीके से हो रहे प्रदर्शन पर उपद्रवियों का कब्जा हो गया है। हालांकि, उनके इस बयान पर कई लोगों ने निराशा जाहिर की है। मंगलवार रात हुई गोलीबारी के एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि, ‘‘ जब सैनिक यह कह रहे थे कि झंडा रक्षाकवच नहीं है, तभी मैं समझ गया था कि स्थिति हाथ से निकल रही है।’’

 

Related Articles