कोरोना संक्रमण के चलते 48 घंटे प्रभावित रहेगी यूपी 112 सेवा, कॉल न मिले तो यहां करें संपर्क

लखनऊ. यूपी में कोरोना संक्रमण (COVID-19 Infection) में तेजी से इजाफा देखने को मिल रहा है. इसका असर यूपी के आपातकालीन सेवा 112 पर भी पड़ा है. इसके 5 कर्मचारियों को कोरोना संक्रमित  पाया गया है, जिसके बाद से एहतियातन लखनऊ की बिल्डिंग को दो दिनों के लिए बंद कर दिया गया है. यहां अब सैनेटाइजेशन कराया जा रहा है. आपात व्यवस्था के तहत वर्क फ्रॉम होम सीओ और प्रयागराज केंद्र कॉल टेकिंग करते रहेंगे. नागरिकों को सूचित किया जा रहा है कि कॉल न मिलने पर हमारे सोशल मीडिया हैंडल (Social Media Handle) पर या 1073 मिलाकर सीधे जनपद नियंत्रण कक्ष में शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

30 का सैंपल लिया गया, 5 निकले पॉजिटिव

यूपी 112 सेवा के अपर पुलिस महानिदेशक, असीम अरुण ने बताया कि एक साथी के कोरोना वायरस पॉजिटिव आने के बाद 30 व्यक्तियों का सैंपल लिया गया, जिनमें से 5 लोग कोरोना पॉजिटिव आए हैं. सभी लोग तकनीकी टीम के हैं, जो सर्वर एरिया में काम करते हैं. सभी लोग asymptomatic हैं, उनका चिकित्सकीय प्रबंध हम कर रहे हैं.

कांटेक्ट हिस्ट्री निकलवाई जा रही

एडीजी ने कहा कि सीएमओ लखनऊ की राय के अनुसार हमें कुछ जरूरी कदम उठाने हैं. इनमें 48 घंटे के लिए यूपी 112 की बिल्डिंग को बंद करके सैनेटाइज किया जाना है. इन 5 व्यक्तियों का संपर्क कांटेक्ट हिस्ट्री निकलवाई जा रही है और इनके संपर्क में आने वाले सभी लोगों का टेस्ट कराया जाएगा.

48 घंटे तक भवन में प्रवेश बंद

एडीजी ने कहा कि कुछ जरूरी निदेश जारी किए गए हैं, जिन पर अमल किया जा रहा है. इसके तहत दोपहर की शिफ्ट पूरी कर कार्यालय में स्थित कर्मी घर जाएंगे. शाम की शिफ्ट के कर्मी नहीं आएंगे. 48 घंटे के लिए तक भवन से सभी व्यक्तियों को बाहर रखा जाएगा. नगर निगम के सहयोग से सैनेटाइजेशन और fumigation कराया जाएगा. हालांकि रोज़ 3 बार सैनेटाइजेशन होता रहा है.

ये है आपात व्यवस्था

इसके अलावा  वर्क फ्रॉम होम सीओ और प्रयागराज केंद्र कॉल टेकिंग करते रहेंगे. नागरिकों को सूचित किया जा रहा है कि कॉल न मिलने पर हमारे सोशल मीडिया हैंडल पर या 1073 मिला कर सीधे जनपद नियंत्रण कक्ष में शिकायत दर्ज कराएं.

Related Articles