उत्तर प्रदेश में एक बार फिर साथ चुनाव लड़ेंगे BJP और अपना दल, इस सीट से उम्मीदवार होंगी अनुप्रिया पटेल

0

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के लिए सीटों को लेकर चली लंबी खींचतान के बाद आखिर भारतीय जनता पार्टी और अपना दल में गठबंधन तय हो गया है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को ट्वीट कर बताया कि अपना दल की अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल पिछली बार की तरह इस बार भी मिर्जापुर से चुनाव लड़ेंगी, जबकि दूसरी सीट को लेकर बात जारी है। दिल्ली में अनुप्रिया पटेल ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की जिसके बाद गठबंदन का ऐलान किया गया।

आपको बता दें कि 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में अपना दल ने दो सीटों पर चुनाव लड़ा था और दोनों पर जीत हासिल की थी। अनुप्रिया पटेल ने मिर्जापुर से चुनाव लड़ा और जीत हासिल की थी, जबकि कुवंर हरिवंश ने प्रतापगढ़ से चुनाव जीता था। चुनाव जीतने के बाद अनुप्रिया पटेल को केंद्र में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग का राज्यमंत्री भी बनाया गया था। 2017 में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान दोनों दलों के बीच तल्खी आ गई थी।

काफी समय से इस बात के कयास लगाए जा रहे थे कि वह भाजपा के साथ अपना गठबंधन तोड़ सकती हैं क्योंकि उन्होंने तमाम सरकारी कार्यक्रमों में जाना बंद कर दिया था। पिछले महीने ही अनुप्रिया पटेल ने कहा था कि उनकी पार्टी अब अपना रास्‍ता खुद चुनेगी। आम चुनावों से ठीक पहले आए उनके इस बयान के कई निहितार्थ लगाए जा रहे थे।दिसंबर 2018 में उन्‍होंने कहा था कि बीजेपी छोटे दलों के अपने सहयोगियों को उचित सम्‍मान नहीं दे रही है और उसे इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

अब एक बार फिर उन्‍होंने कहा है कि बीजेपी उनकी बात नहीं सुन रही है और ‘ऐसा लगता है कि उसकी रुचि समस्‍याओं के समाधान में नहीं है।’ पिछड़ी जातियों को उनकी आबादी के अनुपात में आरक्षण की वकालत करते हुए सरकार से इसके लिए जातीय सेन्सस कराने की मांग की थी। लेकिन तमाम कोशिशों के बाद आखिर भाजपा और अपना दल में सहमति बन गई।

loading...
शेयर करें