प्रतापगढ़ में बना कोरोना माता का मंदिर, लोगों ने किया पूजा पाठ, जानिए पूरी रिपोर्ट

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में ग्रामीणों ने नीम के पेड़ के नीचे बनवाया कोरोना माता का नाम का मंदिर, कृपया दर्शन से पहले, मास्क लगाए, हाथ धोए

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ (Pratapgarh) जिले में एक अजब-गजब मामला सामने आया है। ग्रामीणों में कोरोना वायरस का खौफ इस कदर हो गया कि कोरोना से बचने के लिए गांव वालों ने नीम के पेड़ के नीचे ‘कोरोना माता’ नाम का मंदिर (Corona Mata Temple) ही बना दिया। यहां तक कि मंदिर में दर्शन करने से पहले दिशानिर्देश भी लिखे गए हैं कि, कृपया दर्शन से पहले, मास्क लगाए, हाथ धोए एंव दूर से ही दर्शन करें। इस बात की खबर मिलने पर पुलिस प्रशासन ने इसे हटवा दिया है।

एक ग्रामीण ने पहले कहा था कि, ग्रामीणों ने सामूहिक रूप से इस विश्वास के साथ मंदिर की स्थापना की है। देवता की पूजा करने से निश्चित रूप से लोगों को कोरोनावायरस से राहत मिलेगी।

जानिए पूरा मामला

जानकारी के अनुसार यूपी के जिले प्रतापगढ़ के सांगीपुर थाना इलाके के जूही शुकुलपुर गांव में चार दिन पहले कुछ ग्रामीणों ने कोरोना माता का मंदिर बनवाया था। जहां लोग अंधविश्वास को बढ़ावा देते हुए पूजा पाठ करने लगे थे। जब पुलिस को इस मामले की जानकारी हुए तो पुलिस प्रशासन ने इस मंदिर को ढहा दिया। इसके साथ ही मंदिर का निर्माण करने वाले एक व्यक्ति को भी हिरासत में लिया गया है। जिसकी जांच की जा रही है।

कोरोना वायरस की दूसरी लहर जानलेवा साबित हुई, जिसकी वजह से लाखों लोगों की मौत हो चुकी है। कई बच्चे अनाथ हो गए। वायरस का कहर पहले इतना ज्यादा था कि आए दिन लोग संक्रमित होते जा रहे थे। श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार के लिए लाशों को इंतजार करना पड़ रहा था। फिलहाल अब कोरोना वायरस की रफ्तार पहले से धीमी पड़ गई है। जिसकी वजह से देश में आज 70 दिनों बाद कोरोना वायरस (COVID-19) के सबसे कम नए मामले आए है।

यह भी पढ़ेबेबसी का दूसरा नाम है दिव्यांग Ali Abbas की जिंदगी, पेंशन और ट्राई साइकिल मिलने की गुहार

Related Articles