UP Budget 2021: अयोध्या में ‘मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डे’ की सौगात, छात्रों को मिलेगा ‘टैबलेट’

योगी सरकार का 5वां 2021 का बजट यूपी के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने विधानसभा में पेश किया, सुरेश खन्ना ने कहा कि जिला अयोध्या में निर्माणाधीन हवाई अड्डे का नाम 'मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डा' होगा

लखनऊ: उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh) में योगी सरकार का 5वां 2021 का बजट (Budget) यूपी के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना (Finance Minister Suresh Khanna) ने विधानसभा में पेश किया। राज्य के बजट पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारे पास पहली बार पेपरलेस बजट था। सबका साथ, सबका विकास के साथ, इस बजट का उद्देश्य हर गांव को डिजिटल बनाने के साथ-साथ हर घर में नल, बिजली, सड़क, पानी पहुंचाना है। यह बजट युवाओं, महिलाओं, गरीबों और किसानों के लिए है। इस बार का बजट 5,50,270.78 करोड़ रुपये का है, ये 2020-21 के बजट से 7.3% अधिक है।

छात्रों को मिलेगा टैबलेट

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य में महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के खातिर ‘महिला समृद्धि योजना’ के लिए 200 करोड़ रुपये के बजट की घोषणा की है। हमने हाल ही में प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मुख्यमंत्री ‘अभ्युदय योजना’ शुरू की है। अब यूपीएससी, एनईईटी, बैंकिंग, रेलवे या आईआईटी-जेईई (UPSC, NEET, Banking, Railway और IIT-JEE) के लिए पात्र छात्रों को ‘टैबलेट’ दिए जाएंगे।

 

‘मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डे’ की सौगात

लखनऊ के विधानसभा में यूपी 2021 का बजट पेश करते हुए यूपी के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि जिला अयोध्या में निर्माणाधीन हवाई अड्डे का नाम मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डा (Maryada Purushottam Shriram Airport) होगा। मैं इसके लिए 101 करोड़ रुपये के बजट प्रावधान का प्रस्ताव करता हूं।

बजट Live Updates

  • वित्तमंत्री सुरेश खन्ना ने बजट पेश करते हुए कहा कि कोरोना काल में सरकार ने एकजुट होकर कार्य किया। पहली बार शहरी क्षेत्र के मजदूरों के लिए 10,35,000 राशन कार्ड बनाए गए। वहीं, कोरोना काल में राजस्थान के कोटा से लगभग 12,000 छात्रों को और प्रयागराज से 14,000 छात्रों को सकुशल के घर पहुंचाया गया।
  • प्रदेश के हर परिवार को बैंकिंग व्यवस्था से जोड़ने हेतु वित्तीय विनिवेशन कार्यक्रम और पीएम जनधन योजना के अंतर्गत 31 जनवरी 2021 तक, 7 करोड़ 2 लाख बैंक खाते खोले जा चुके हैं।
  • वर्तमान में प्रदेश के सभी जनपदों में 19 हजार 38 बैंक शाखाओं एवं 64,172 बैंक मित्रों कुल 83,210 बैंकिंग केंद्रों के माध्यम से बैंकिंग सेवाएं प्रदान की जा रही है।
  • 2021-22 के बजट का केंद्र बिंदु प्रदेश के समग्र समावेशी विकास के द्वारा सभी वर्गों का स्वावलंबन के साथ सशक्तिकरण है।
  • हमारे इस प्रयास का लक्ष्य प्रदेश के लोगों को स्वरोजगार के अवसर और सुविधाएं उपलब्ध कराते हुए उन्हें आत्मनिर्भर और सशक्त बनाए जाना है।

यह भी पढ़ेDadasaheb Phalke Award 2021 में किस को मिला कौन सा अवॉर्ड्, जानिए पूरी लिस्ट

खनन माफियाओं पर ऐक्शन

  • सुरेश खन्ना ने कहा कि आइए हम सब मिलकर उत्तर प्रदेश को स्वस्थ, सुरक्षित एवं आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश बनाएं। किसानों की आय को दोगुना बनाने के लिए प्रयासरत हैं। सुरक्षित उत्तर प्रदेश- कानून का राज स्थापित करने के लिए कुख्यात अपराधी, भूमाफिया और खनन माफियाओं पर ऐक्शन लिया गया। पुलिस बल का आधुनिकीकरण सरकार की प्राथमिकताओं में है।
  • सीएए (CAA) के खिलाफ हिंसा के दौरान 23 लाख 36 हजार की रिकवरी की गई। 1 हजार करोड़ से ज्यादा की अवैध संपत्तियों को मुक्त कराया गया। 150 से अधिक शस्त्र लाइंसेंस निरस्त किए गए।
  • महिलाओं और बालिकाओं की सुरक्षा के लिए प्रदेश के सभी जनपदों के समस्त थानों में 1535 महिला हेल्प डेस्क की स्थापना की गई है।
  • गन्ना किसानों के 1 लाख 23 हजार करोड़ रुपये के रेकॉर्ड मूल्य का भुगतान कराया गया है। 27 हजार 785 करोड़ रुपये ज्यादा गन्ना मूल्य का भुगतान किया गया।

किसानों को मुफ्त पानी

मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना के तहत 600 करोड़ रुपये का बजट आवंटित। प्रदेश में अधिक उत्पादक वाली फसलों को चिन्हित किया जाएगा। ब्लॉक स्तर पर कृषक उत्पादन संगठनों की स्थापना की जाएगी, इसके लिए 100 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। किसानों को मुफ्त पानी की सुविधा के लिए 700 करोड़ रुपये दिया जाएगा। किसानों को रियायती दाम पर लोन दिया जाएगा।

यह भी पढ़ेPM मोदी बोले- ‘दिल्ली दूर नहीं है’, Assam के विकास के लिए विभिन्न परियोजनाओं का शुभारंभ

Related Articles

Back to top button