UP Corona Update: पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 22,439 मामले, जान लें क्वारंटाइन का यह नियम

उत्तर प्रदेश अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 22,439 मामले सामने आए हैं

लखनऊ: देश में कोरोना वायरस (Corona virus) की दूसरी लहर बेहद ही खतरनाक साबित हो रही है। जिसकी चपेट में अब उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) खतरे के निशान पर पहुंच चुका है। कोरोना वायरस के संक्रमण से आए दिन अधिक संख्या में लोग संक्रमित होते ही जा रहे हैं। दूसरी तरफ श्मशान घाट में लाशों कि ढेर लग चुकी है। यूपी में पिछले 24 घंटों में संक्रमण के 22,439 मामले सामने आए हैं।

कोरोना सैंपल जांच

उत्तर प्रदेश अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद (Amit Mohan Prasad) ने बताया कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 22,439 मामले सामने आए हैं। 4,222 लोग डिस्चार्ज हुए। प्रदेश में 1,29,848 सक्रिय मामले हैं। संक्रमण से कुल 9,480 लोगों की मृत्यु हुई है। कल प्रदेश में 2,06,517 सैंपल की जांच हुई है।

मुख्य सचिव स्वास्थ्य के मुताबिक प्रदेश में अब तक कुल 3,75,90,753 सैंपल की जांच की गई है। अब तक 86,24,856 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज दी जा चुकी है। इनमे से 14,26,472 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज दी जा चुकी है।

क्वारंटीन की सुविधा

उत्तर प्रदेश अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य ने यह भी बताया कि, जो लोग ऐसे राज्यों से आ रहे हैं जहां ज्यादा संक्रमण है, उन लोगों के लिए ग्राम पंचायत और विद्यालयों में क्वारंटीन की सुविधा बनाई जाएगी और जांच की जाएगी अगर जांच में पॉजिटिव पाए जाते हैं तो उन्हें 14 दिन के होम आइसोलेशन में भेज दिया जाएगा।

मजदूरों के लिए दिशानिर्देश

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अपर मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) ने प्रदेश में प्रवासी मजदूरों के लौटने पर उन्हें क्वारंटीन करने को लेकर दिशानिर्देश जारी किए है। लक्षण वाले जो व्यक्ति संक्रमित नहीं पाए जाते उन्हें 14 दिन और बिना लक्षण वाले लोगों को 7 दिन के लिए होम क्वारंटीन में भेजा जाएगा।

प्रशासन के द्वारा स्क्रीनिंग

प्रवासियों के आगमन के पश्चात जिला प्रशासन के द्वारा उनकी स्क्रीनिंग करायी जाएगी। स्क्रीनिंग पर किसी भी प्रकार के लक्षण पाए जानें पर इन्हें क्वारंटाइन में रखा जाएगा। तथा जांच कराने के पश्चात यदि वह संक्रमित पाया जाता है तो उसे यथावश्यक कोविड अस्पताल या घर पर आइसोलेट किया जाएगा। जो लक्षण वाले संक्रमित नहीं पाये जाते है, उन्हें 14 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन में भेज दिया जायेगा। लक्षणविहीन व्यक्ति 7 दिनों तक होम क्वारंटाइन में रहेंगे।

यह भी पढ़ेकुलदीप सेंगर की पत्नी का टिकट हुआ कैंसिल, भाऊक हुई बेटी ने उठाए कई सवाल, देखें वीडियो

Related Articles

Back to top button