UP के स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह ने ली वैक्सीन की पहली डोज, मिलेगा मुआवजा

उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह ने लखनऊ में कोरोना वायरस वैक्सीन की पहली डोज लगवाई

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह (Health Minister Jayapratap Singh) ने लखनऊ में कोरोना वायरस वैक्सीन (Corona Vaccine) की पहली डोज लगवाई। इसके अलावा केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने बिहार के बेगूसराय के सदर अस्पताल में कोरोना वायरस वैक्सीन की पहली डोज ली। देश में कुल 1,80,05,503 लोगों को कोरोना वायरस की वैक्सीन लगाई गई है।

ICMR के आंकड़े

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के मुताबिक भारत में कल तक कोरोना वायरस (Corona virus) के लिए कुल 21,99,40,742 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं, जिनमें से 7,61,834 सैंपल कल टेस्ट किए गए हैं।

बायोटेक देगी मुआवजा

कोराना वैक्सीन टीकाकरण अभियान से पूरे देश में खुशी की लहर दौड़ रही है। भारत की बायोटेक (Biotech) कंपनी ने ये ऐलान किया था कि वैक्सीन लगने पर यदि किसी व्यक्ति के साथ दुष्परिणाम (Side effect) होता है तो कंपनी खुद उसका मुआवजा देगी।

आइये जानते हैं कि बायोटेक ने क्या कहा?

कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर भारत बायोटेक कंपनी का कहना है कि कोवैक्सीन (Covaxine) के लगाए जाने पर किसी व्यक्ति के साथ दुष्परिणाम (Side effect) सामने आते है तो कंपनी खुद इसका मुआवजा देगी। कोरोना वैक्सीन की 55 लाख डोज खरीदने का भारत सरकार ने फैसला भी किया है।

बायोटेक (Biotech) कंपनी

यह भी पढ़ेEase of Living Index : जानिए भारत के कौन-कौन से शहर हैं रहने लायक

वैक्सीन के लिए सहमति पत्र

कंपनी का कहना है कि जिसे भी कोरोना वैक्सीन लगवाना होगा उसे सबसे पहले एक ‘सहमति पत्र’ पर ‘हस्ताक्षर’ करना होगा। बायोटेक ने इस बात की पुष्टी करते हुए कहा है कि वैक्सीन लगवाने वाले किसी भी व्यक्ति के साथ कोई अनहोनी या दुष्परिणाम होता है तो उसे कंपनी मुआवजा देगी। इसके साथ ही अगर व्यक्ति को स्वास्थ्य संबंधि कोई भी समस्या होती है तो उसकी सरकारी अस्पताल में देख-रेख की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी।

मुआवजा मिलने की शर्त

बायोटेक कंपनी ने यह बात स्पष्ट कहा कि मुआवजा तभी दिया जाएगा जब दुष्परिणाम (Side effect) का कारण वैक्सीनेशन ही होगा। सहमति पत्र में इस बात का जिक्र साफ है कि वैक्सीन लगने के बाद भी आपको कोरोना गाइडलाइन के नियमों का पालन करना होगा।

यह भी पढ़ेCorona Update: भारत में COVID-19 के 16,838 नए मामले, जानें राज्यों में संक्रमण का आंकड़ा

Related Articles