निवेशकों का महाकुंभ यूपी इन्वेस्टर्स समिट-2018 : लखनऊ पहुंचे पीएम मोदी, कुछ ऐसा होगा कार्यक्रम

0

लखनऊ । राजधानी लखनऊ तैयार है देश ही नहीं दुनिया भर के 5 हजार से ज्यादा उद्योगपतियों का स्वागत करने के लिए। जी हाँ, आज से उत्तर प्रदेश की राजधानी की लखनऊ में यूपी इन्वेस्टर्स समिट-2018′ (UPIS) शुरू होने वाला है। इसका उद्घाटन पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे। दो दिन तक चलने वाले निवेशकों के महाकुंभ यूपी इन्वेस्टर्स समिट हमने 5 लाख करोड़ रुपए के निवेश और 20 लाख से ज्यादा रोजगार देने का टारगेट रखा है।

आपको बता दें कि सीएम योगी आदित्य नाथ ने इस यूपी इन्वेस्टर्स समिट-2018′ (UPIS) का आयोजन प्रदेश की आर्थिक स्थिति सुधारने, किसानों की आय दोगुनी करने और युवाओं को रोजगार मुहैया कराने के के लिए किया है। फिनलैंड, नीदरलैंड्स, जापान, चेक गणराज्य, थाइलैंड, स्लोवाकिया और मॉरीशस की पहचान इस समिट के लिए साझेदार देशों के तौर पर की गई है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 22 फरवरी को सम्मेलन के समापन अवसर पर मौजूद रहेंगे।

पीएम मोदी के अलावा मंत्री और उद्योगपति भी देंगे भाषण 

मिली जानकारी एक मुताबिक, यूपी इन्वेस्टर्स समिट के दौरान 30 सेशन होंगे। पहले सेशन में पीएम मोदी सबको संबोधित करेंगे। उसके बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी का संबोधन होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दोपहर दो बजे से चार बजे तक सेशन को संबोधित करेंगे। उसके बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी का संबोधन होगा।

वहीँ मुकेश अंबानी के अलावा आदित्य विक्रम बिड़ला समूह के अध्यक्ष कुमार मंगलम बिड़ला, अडानी समूह के अध्यक्ष गौतम अडानी के साथ महिंद्रा ग्रुप के अध्यक्ष आनंद महिंद्रा, टाटा संस के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन शामिल होंगे। इनके अलावा टोरेंट समूह के सुधीर मेहता, कैडिला हल्थकेयर के अध्यक्ष पंकज पटेल, अरविंद मिल्स के एक्जेक्यूटिव डायरेक्टर कुलीन लालभाई, जेएसडब्ल्यू ग्रूप के चेयरमैन सज्जन जिंदल, एस्सेल समूह के अध्यक्ष सुभाष चंद्रा, जीएमआर समूह के अध्यक्ष जीएमआरराव सहित जाने मानी हस्तियां शिरकत करेंगी।

यूपी इन्वेस्टर्स समिट-2018′ के बारे में बताते हुए औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कहा कि इस समिट के जरिए हमने 5 लाख करोड़ रुपए के निवेश और 20 लाख से ज्यादा रोजगार देने का टारगेट रखा है। समिट में केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली, नितिन गडकरी, सुरेश प्रभु, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी, गणपति राजू, डॉ. हर्षवर्धन, महेश शर्मा, धर्मेद्र प्रधान, गिरिराज सिंह, रविशंकर प्रसाद, शिवप्रताप शुक्ल और हरसिमरत कौर शामिल होंगे।

समिट के लिए खास तैयारियां

लखनऊ के गोमती नगर स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में में करीब 5000 से ज्यादा लोगों के बैठने की व्यवस्था की गयी है। इतना है नहीं जगह को खूबसूरत बनाने के लिए करीब 4000 से जयादा गमले लगाये गए हैं। 36 होटलों में राज्य सरकार ने अपने मेहमानों की ठहरने की व्यवस्था की है। हर जगह पोस्टर्स और बैंर लगाये गए हैं।

समिट का ज्यादा जोर

इस समिट में सरकार का सबसे ज्यादा जोर कृषि, फूड प्रॉसेसिंग, डेयरी, बिजली, आईटी और स्टार्टअप, पर्यटन, अक्षय ऊर्जा, फिल्म, एमएसएमई, हैंडलूम और टैक्सटाइल के क्षेत्र में होगा। मेक इन इंडिया के तर्ज पर योगी सरकार की भी ये कोशिश रहेंगी कि इस समिट के जरिए मेक इन यूपी को प्रमोट किया जाए।

सुरक्षा की व्यवस्था चाक-चौबंद

बड़े बड़े मेहमानों को देखते हुए सुरक्षा भी उतनी ही कड़ी रखी गयी हैसमिट के दौरान 600 पुलिसकर्मी और स्नाइपर सुरक्षा के लिए तैनात किए गए हैं। बहार से भी पुलिस फ़ोर्स मंगाई गयी है। पैरामिलिट्री फोर्स के जवानों को भी तैनात किया गया है। इसके अलावा प्रधानमंत्री की सुरक्षा में एसपीजी की टीम और एनएसजी कमांडो रहेंगे। इसके अलाल्व समिट स्थल के चारो तरफ स्नाइपर तैनात किए गए हैं। बॉम्‍ब डिटेक्शन एंड डिस्पोजल स्क्वायड और डॉग स्क्वायड की टीम भी सुरक्षा में लगीं हैं।

loading...
शेयर करें