यूपी: मथुरा के वकीलों ने दी एक दिसम्बर को हड़ताल की चेतावनी

इस संबन्ध में स्थानीय सांसद हेमामालिनी ने जिलाधिकारी को पूर्व में पत्र लिखकर क्लेम फोरम ट्रिब्यूनल की अदालत को जिला न्यायालय परिसर अथवा कलेक्ट्रेट में स्थापित करने के लिए कहा था।

मथुरा: मोटर एक्सीडेन्ट क्लेम कोर्ट ( ट्रिब्यूनल ) को जिला न्यायालय से लगभग दो किलोमीटर दूर एक कालेज में स्थानांतरित किये जाने के विरोध में मथुरा के वकीलों ने एक दिसम्बर को हड़ताल पर जाने की घोषणा की है।

इस संबन्ध में स्थानीय सांसद हेमामालिनी ने जिलाधिकारी को पूर्व में पत्र लिखकर क्लेम फोरम ट्रिब्यूनल की अदालत को जिला न्यायालय परिसर अथवा कलेक्ट्रेट में स्थापित करने के लिए कहा था। उन्होंने यह भी लिखा था कि चूंकि मोटर एक्सीडेन्ट क्लेम कोर्ट में प्रैक्टिस करने वाले अधिवक्ता विभिन्न अदालतों में भी कार्य करते हैं इसलिए उक्त अदालत का जिला न्यायालय परिसर अथवा कलेक्ट्रेट मे बनना आवश्यक है मगर अभी तक इस दिशा में कोई सार्थक प्रयास नही हुए हैं जब कि क्लेम फोरम के अधिवक्ता दस दिन से हड़ताल पर हैं। उनकी मांग न मानने के कारण ही बार एसोएिसन को हस्तक्षेप कर हड़ताल करना पड़ रहा है।

बार एसोसिएसन मथुरा के सचिव सुनील कुमार चतुर्वेदी एडवोकेट ने बताया कि हड़ताल का नेाटिस जिला एवं सत्र न्यायाधीश मथुरा को दिया गया है। उन्होंने बताया कि इसकी सूचना जिलाधिकारी को भी दे दी गई है।

क्लेम फोरम के सचिव ओमवीर सिंह सारस्वत ने कहा कि जनपद न्यायालय एवं कलेक्ट्रेट परिसर में कई कोर्ट खाली हैं तथा इस कोर्ट को उनमें कहीं भी स्थानान्तरित किया जा सकता है पर जिला न्यायाधीश एवं जिला प्रशासन अधिवक्ताओं की जायज मांग को भी नही मान रहा है।

यह भी पढ़े: तीसरे चरण में 57 लाख से ज्यादा मतदाता कर सकेंगे अपने मताधिकार का इस्तेमाल

Related Articles

Back to top button