AC कमरा छोड़ साइकिल से घर-घर जाकर फीडबैक ले रहे हैं UP के ऊर्जा मंत्री

कई उपभोक्ताओं ने मौके पर बिल भी जमा किया और उन्हें मोबाईल वैन से तत्काल रसीद भी दी गई। उससे पहले मंगलवार को उन्होंने जानकीपुरम में लोगों की समस्याएं सुनी थी।

लखनऊ: एयरकंडीनशन कमरों में बैठ कर विभागीय समीक्षा की औपचारिकता निभाने की परंपरा के विपरीत उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा इन दिनो साइकिल से दफ्तर जाकर जहां पर्यावरण संरक्षण और अच्छे स्वास्थ्य के प्रति लोगों को जागरूक कर रहे हैं वहीं उपभोक्ताओं के घर घर जाकर सस्ती बिजली के लिये समय से बिल के भुगतान की अपील भी कर रहे हैं।

इसी कड़ी में उर्जा मंत्री ने बुधवार को बंग्ला बाजार एवं आशियाना स्थित बिजली घर का निरीक्षण किया और दोनों ही उपकेंद्रों के अधीन क्षेत्रो में जाकर लोगों से फीडबैक लिया। बकायेदार उपभोक्ताओं को नियमित समय पर बिल जमा करने के लिए प्रेरित किया। कई उपभोक्ताओं ने मौके पर बिल भी जमा किया और उन्हें मोबाईल वैन से तत्काल रसीद भी दी गई। उससे पहले मंगलवार को उन्होंने जानकीपुरम में लोगों की समस्याएं सुनी थी।

ऊर्जा विभाग व विजिलेंस विंग का संयुक्त डोर नॉक अभियान

उन्होंने कहा, ‘पिछले महीने में ऊर्जा विभाग व विजिलेंस विंग के संयुक्त डोर नॉक अभियान से 1302 करोड़ रुपये का राजस्व विभाग को मिला है। बिजली काटना कोई विकल्प नहीं है। हमने व्यवस्था कर रखी है कि बड़े बकायेदार उपभोक्ता चार किस्तों में मौजूदा बिल के साथ बकाए की किस्तें जमा कर सकता है।’

श्रीकांत शर्मा ने कहा कि उपभोक्ता समय से बिल जमा करेंगे तो बिजली विभाग का घाटा भी कम होगा। इसके साथ ही उन्हें सस्ती बिजली बिना किसी बाधा के मिलेगी।

बिजली संबंधी समस्याओं के लिए 1912 पर शिकायत दर्ज कराएँ

दोनों ही उपकेंद्रों पर निरीक्षण के दौरान निर्देशों के बावजूद सुधार न होने पर उन्होंने नाराजगी भी जाहिर की। ऊर्जा मंत्री ने प्रबंध निदेशक को उपकेंद्रों का ऑडिट करने के निर्देश भी दिए। उन्होने दोनों ही उपकेंद्रों के अधीन क्षेत्रों में साइकिल से निरीक्षण भी किया। यहां उपभोक्ताओं से मिलकर बिजली व्यवस्था में सुधार को लेकर फीडबैक भी लिया। बिजली संबंधी समस्याओं के लिए 1912 पर शिकायत दर्ज कराने के लिए प्रेरित किया।

ये भी पढ़ें : लल्लू का योगी पर वार, कहा पराली के बहाने किसानों का उत्पीड़न

Related Articles

Back to top button