IPL
IPL

UP Panchayat Chunav 2021: पूर्व ऊर्जा मंत्री के परिवार में चढ़ा चुनावी रंग, मैदान में उतरी देवरानी-जेठानी

यूपी पंचायत चुनाव ( UP Panchayat Chunav 2021 ) का रंग अब धीरे-धीरे गहराता जा रहा है।

लखनऊ: यूपी पंचायत चुनाव ( UP Panchayat Chunav 2021 ) का रंग अब धीरे-धीरे गहराता जा रहा है। चुनाव के लिए भाजपा ने अपने उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी है और लिस्ट जारी होते ही प्रदेश के कद्दावर नेता पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय के परिवार की कलह एक बार फिर खुलकर सामने आ गई है। भाई-भाई के बीच उभरे पारिवारिक कलह ने ऐसा रंग पकड़ा है कि अब परिवार की देवरानी और जेठानी चुनावी जंग में कूद पड़ी हैं। हाथरस के इस पॉलिटिकल परिवार की लड़ाई अब खुलकर सामने आ गई है।

पहली बार प्रदेश के बड़े नेता रामवीर उपाध्याय ने प्रेस कान्फ्रेंस कर अपने छोटे भाई मुकुल उपाध्याय पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उसी प्रेस कांफ्रेंस में मुकुल उपाध्याय आ गए और रो-रोकर अपने भाई से माफी मांगने लगे और पैर भी पकड़ने लगे। ये देखते ही रामवीर ने उन्हें चेताया कि बैठक में आने की जरूरत नहीं है।

भाई ने कहा कि मैं गद्दार नहीं हूं

भाई की ये बात सुनकर मुकुल काफी देर तक अंदर कमरे में बैठे रहे और यह कहते रहे कि मैं गद्दार नहीं हूं। मैने हमेशा अपने भाई का साथ दिया है, जो कुछ मुझसे बन पड़ा, वह मैंने किया। काफी देर तक यह सब फैमिली ड्रामा चलता रहा, लेकिन आखिरकार रामवीर ने स्पष्ट कर दिया कि उनकी पत्नी सीमा उपाध्याय वार्ड नंबर 14 से ही चुनाव लड़ेगी। ( UP Panchayat Chunav 2021 )

वहीं, मुकुल से जब यह पूछा गया कि क्या इस स्थिति में वह अपनी पत्नी को चुनाव लड़ाएंगे तो उन्होंने कहा कि, उन्होंने अपने भाई के साथ कोई गद्दारी नहीं की है। उन्होंने यह भी कहा कि उनकी पत्नी रितु उपाध्याय को भाजपा जैसी पार्टी ने मैदान में उतारा है तो चुनाव तो लड़ना ही है। इसलिए रितु उपाध्याय अब वार्ड नंबर 14 से रविवार को पर्चा दाखिल करेंगी। वहीं ऐसे में इस चुनाव में जहां एक तरफ जेठानी सीमा उपाध्याय होंगी तो उनके मुकाबले में देवरानी रितु उपाध्याय चुनाव लड़ेंगी।

यह भी पढ़ें: दिनदहाड़े हुई बैंक में डकैती, 24 लाख से ज्यादा की लूट

Related Articles

Back to top button