यूपी पंचायत चुनाव : जानिए वोटर लिस्ट में अपना नाम जोड़ने का नियम

अगर आप अपने ग्राम सभा का वोटर है और किसी कारण वस वोटर लिस्ट में आपका नाम नहीं हैं तो आप इस तरह से अपना नाम दर्ज करा सकते हैं।

लखनऊ: अगर आप अपने ग्राम सभा का मतदाता है और किसी कारण वस मतदाता लिस्ट में आपका नाम नहीं हैं तो आप इस तरह से अपना नाम दर्ज करा सकते हैं। इसके लिये राज्य निर्वाचन आयोग ने अपने वेबसाइट पर ‘वोटर सर्विसेज’ के नाम से एक नया पेज जोड़ा है।

इसमें ‘वोटर सर्च’ में जाने पर मांगी गई सूचना जिला, विकास खण्ड, ग्राम पंचायत, नाम, पिता का नाम आदि भरने पर आपका सारा ब्योरा खुल कर सामने आ जाएगा। इसी ‘वोटर सर्विसेज’ के पेज पर भी वोटर लिस्ट में नाम जोड़ने, संशोधित करने तथा काटने के प्रपत्र भी उपलब्ध हैं।

मतदाता लिस्ट में अपना नाम जोड़ने के लिए प्रपत्र संख्या 2, संशोधन के लिए प्रपत्र संख्या 3 और नाम हटाने के लिए प्रपत्र संख्या 4 ही भरने होंगे।

जब वोटर लिस्ट में नाम ना हो

अगर आपके नाम,पते,लिंग,आयु में कोई गलती नजर आती है या फिर आपका वोटर लिस्ट में नाम नहीं है तो ऐसे स्थिति में आप सम्बंधित सहायक जिला निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी या बूथ लेबल आफिसर से सम्पर्क कर सकते है। यह दोनों अधिकारी आपको एक दावा फार्म देंगे जिसे भरकर आपको इन्हीं अधिकारी को वह फार्म वापस भी करना होता है।

यह फार्म राज्य निर्वाचन आयोग के वेबवसाइट पर भी उपलब्ध होंगे। राज्य निर्वाचन आयोग से मिली जानकारी के अनुसार 4 जनवरी से 11 जनवरी तक ऐसे दावे और आपत्तियों का समाधान किया जाएगा। फिर 22 जनवरी को फाइनल वोटर लिस्ट का प्रकाशन कर दिया जाएगा।

वास्तव में 13 नवम्बर से पहले बूथ लेबल आफिसर ग्रामीण इलाकों में घर-घर गये थे। मतदाताओं का ब्यौरा इकठ्ठा किया था। इस अभियान के तहत नए वोटरों को भी शामिल किए गए है। आने वाले 1 जनवरी को 18 साल की उम्र पूरी कर रहे हैं।

इनके अलावा और भी लोग जिनके नाम छूट गए थे उन्हें भी मतदाता लिस्ट में शामिल किया गया। जिन वोटरो का मौत हो चुकि है स,जो लोग स्थानांतरित हो गए या डुप्लीकेट वोटर आईडी है ऐसे लोेगों को वोटर लिस्ट से हटाया भी गया है।

यह भी पढ़े: गहलोत ने कांग्रेस स्थापना दिवस पर शुभकामनाएं

Related Articles