UP Police ने साल 2020 का दिया डाटा, अपराध में कमी का दावा

यूपी पुलिस ( UP Police ) ने राज्य में अपराध ( Crime ) में कमी का दावा करते हुए कानून व्यवस्था की स्थिति मजबूत कर बड़े पैमाने पर संगठित एवं पेशेवर अपराधियों के विरूद्ध प्रभावी कानूनी कार्रवाई की।

लखनऊ: यूपी पुलिस ( UP Police ) ने राज्य में अपराध ( Crime ) में कमी का दावा करते हुए कानून व्यवस्था की स्थिति मजबूत कर बड़े पैमाने पर संगठित एवं पेशेवर अपराधियों के विरूद्ध प्रभावी कानूनी कार्रवाई की। पुलिस प्रवक्ता ने गुरुवार को कहा कि वर्ष 2020 में कोरोना संक्रमण ( COVID-19 ) में समाज के साथ-साथ पुलिस बल के लिए भी एक बहुत बड़ी चुनौती के रूप में सामने आया है। लेकिन पुलिस बल ( Police Force ) द्वारा इस चुनौती पूर्ण वातावरण में कर्तव्य परायणता दिखाते हुये कार्य करते हुये जन सेवा भाव का एक अप्रतिम उदाहरण प्रस्तुत किया गया है। उन्होंने बताया कि गत वर्ष के सापेक्ष इस वर्ष महत्वपूर्ण अपराधो में उल्लेखनीय कमी आयी है।

उन्होंने बताया कि डकैती के अपराधो में 20 प्रतिशत, लूट में 37 प्रतिशत, हत्या में पांच प्रतिशत, फिरौती के लिए अपहरण में 15 प्रतिशत, गृहभेदन में 26 प्रतिशत, बलात्कार के अपराधों में 19 प्रतिशत से अधिक की कमी आई है। प्रवक्ता ने बताया कि महत्वपूर्ण अपराधो में डकैती में 81 प्रतिशत से अधिक, लूट में 91 प्रतिशत से अधिक, हत्या एवं फिरौती के लिए अपहरण में 85 प्रतिशत से अधिक तथा बलात्कार में 73 प्रतिशत से अधिक अपराधियों के विरूद्ध प्रभावी वैधानिक कार्रवाई की गयी है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष डकैती के प्रकरणो में माल की बरामदगी 72 प्रतिशत से अधिक, लूट के अपराधो में लूट के माल की बरामदगी 64 प्रतिशत से अधिक रही है,जो कि विगत की तुलना काफी उत्साहबर्धक उपलब्धि है।

ये भी पढ़ें : इनोवेशन व स्टार्टअप गांव-गांव पहुंचने से छोटे किसानों का होगा फायदा-कृषि मंत्री

कई जिलों के दुर्दान्त अपराधियों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई

उन्होंने बताया कि वर्ष 2020 में शासन की अपराध एवं अपराधियों के प्रति जीरो टाॅलरेन्स की नीति के अनुरूप विभिन्न कार्य योजनायें बनाकर अपराधियों के विरूद्ध कठोर विधिक कार्रवाई की गयी है। पुलिस ने विभिन्न जिलो में दुर्दान्त अपराधियों के विरूद्ध कार्रवाई करते हुए एक जनवरी से 30 नवम्बर तक 50 हजार एवं उसके ऊपर के 15 अपराधी पुलिस मुठभेड़ ( Encounter ) के दौरान मारे गये, जिसमें 05 लाख रूपये का पुरस्कार घोषित एक, एक लाख रूपये पुरस्कार घोषित छह, पचास हजार रूपये के पुरस्कार घोषित आठ अपराधी शामिल है।

Related Articles

Back to top button