यूपी: हर जिले में बनाई जाएंगी अस्थायी जेल, नए कैदियों का किया जाएगा कोरोना टेस्ट

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण हर रोज नए रिकॉर्ड बना रहा है। पिछले दिनों कोरोना ने प्रदेश की जेलों में भी दस्तक दे दी है। झांसी जिला जेल में एक साथ 127 कैदियों के संक्रमित मिलने से अफरा तफरी मच गई थी।
इसके बाद से संक्रमण पर काबू पाने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थि ने मंगलवार को बताया कि जिन जिलों में अब तक अस्थायी जेल नहीं बनाई गई हैं, वहां जल्द से जल्द इनका निर्माण किया जाएगा। नए कैदियों को इन्हीं अस्थायी जेलों में रखा जाएगा।


उन्होंने बताया कि नए कैदियों को अस्थायी जेलों में रखने से पहले अनिवार्य रूप से एंटिजेन टेस्ट किया जाएगा। टेस्ट में जिन लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आएगी उन्हें उपचार के लिए एल-1 कोविड अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा। वहीं, जिनकी रिपोर्ट निगेटिव आएगी उन्हें 14 दिनों के लिए अस्थायी जेलों में ही क्वारंटीन किया जाएगा।

मंगलवार को मिले 3490 नए मरीज
बता दें कि प्रदेश में मंगलवार को 3490 मरीज पाए गए। अब एक्टिव पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 27934 हो गई है। जबकि 44520 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है।

अब तक 1497 लोगों की मौत हुई है। प्रदेश में अब तक कुल 74083 कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। अपर मुख्य सचिव सूचना व गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में सोमवार को 91830 नमूनों की जांच की गई। अब प्रदेश में 2033089 नमूने जांचे जा चुके हैं।

 

Related Articles