उत्‍तर प्रदेश + तीन डीजीपी = साल 2015

raipur-ASP-transfer-1433343982
लखनऊ। एक साल में तीन डीजीपी। गुरुवार को लखनऊ की जिस पुलिस लाइन में डीजीपी जगमोहन यादव का विदाई समारोह चल रहा था, उसी पुलिस लाइन ने वर्ष 2015 में तीन डीजीपी को विदाई दी। 2015 में पहली विदाई अरुण कुमार गुप्ता फिर एके जैन और अब डीजीपी जगमोहन यादव। यूपी में सपा सरकार बनने के बाद से अल्प समय के डीजीपी की संख्या ज्यादा रही है।

दो महीने, तीन महीने और चार महीने के डीजीपी। सपा सरकार में डीजीपी का कार्यकाल बस इतना ही रहा है सिर्फ आनंद लाल बनर्जी को छोड़कर। वर्ष 2015 की बात करें तो यूपी में इस वर्ष तीन डीजीपी बदल गए। 2015 में पहली विदाई लखनऊ पुलिस लाइन में 31 जनवरी डीजीपी अरुण कुमार गुप्ता, उसके बाद डीजीपी बने एके जैन का 30 मार्च को पुलिस लाइन में विदाई समारोह हो गया लेकिन तीन माह का एक्सटेंशन मिलने की वजह वह फिर से डीजीपी बन गए। फिर जून 2015 में उनका विदाई समारोह हुआ। उसके बाद डीजीपी बने जगमोहन यादव का 31 दिसंबर को पुलिस लाइन में विदाई समारोह हुआ। इस तरह यूपी में 2015 में तीन डीजीपी रिटायर हुए।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button