यूपी: कोविड वैक्सीन लगवाने के बाद हॉस्पिटल के वार्ड बॉय की मौत

लखनऊ: मामला उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुरादाबाद (Moradabad) जनपद से आ रहा है जहां एक सरकारी हॉस्पिटल (Government Hospital) में बीते रविवार की शाम को 46 साल के एक वार्ड बॉय की मौत हो गई, जिसे 24 घंटे पहले ही कोविड का टीका लगाया गया था। जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (Chief Medical Officer) ने जानकारी देते हुए बताया कि उसकी मौत का कोविड वैक्सीन से कोई लेना-देना नहीं है। वार्ड बॉय महिपाल सिंह की रविवार को सीने में दर्द और सांस लेने में तकलीफ होने के चलते उसकी मृत्यु हो गई। उनके परिजनों का कहना है कि वैक्सीन लगवाने के बाद से ही महिपाल परेशानी की शिकायत कर रहा था।

मेडिकल ऑफिसर का दावा- कोविड टीके से नहीं हुई मौत

मुरादाबाद के चीफ मेडिकल ऑफिसर एम सी गर्ग ने रविवार देर रात पत्रकारों से कहा कि ‘उन्हें शनिवार की दोपहर वैक्सीन लगाई गई थी। रविवार को उन्हें सांस लेने में तकलीफ और सीने में दर्द की शिकायत हुई। उन्होंने शनिवार की रात को अपनी नाइट ड्यूटी भी की थी और तक उसे कोई दिक्कत नहीं थी।’ उन्होंने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के हवाले से बताया है कि ‘उनकी मौत‘ cardio-pulmonary disease’ के चलते ‘cardiogenic shock/septicemic shock’ की वजह से हुई है और इसका वैक्सीन से कोई संबंध नहीं है।’ वार्ड बॉय के बेटे विशाल ने मीडिया से कहा कि उनके पिता को पहले से समस्या रही होगी, लेकिन वैक्सीन लगवाने के बाद से उनकी तबियत ज्यादा खराब हो गई।

उन्होंने कहा, ‘मेरे पिता वैक्सीन सेंटर से दोपहर लगभग 1.30 बजे निकले। मैं उन्हें घर लेकर आया, उन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही थी और खांसी भी आ रही थी। उन्हें निमोनिया का असर, खांसी और जुकाम था लेकिन घर आने के बाद उनकी तबियत ज्यादा खराब हो गई।’ बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार ने एक प्रेस रिलीज जारी कर बताया था कि वैक्सीनेशन के पहले दिन यानी शनिवार को राज्य में कुल 22,643 लोगों को कोविड का टीका लगाया गया है। राज्य में वैक्सीनेशन का अगला चरण 22 जनवरी को पूरा किया जाना है।

यह भी पढ़ें: शादी का झांसा देकर बनाता रहा शारीरिक सम्बन्ध, प्रेमिका शिकायत लेकर पहुंची SSP ऑफिस

Related Articles

Back to top button