यूपी: योगी सरकार का बड़ा फैसला, अब केमिस्ट को हर दिन बताना होगा खांसी, जुकाम, बुखार की कितनी दवाएं बेची

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं. अब उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने इसे लेकर एक और बड़ा कदम उठाया है. यूपी सरकार ने मेडिकल स्टोरों से कहा है कि वो खांसी, जुकाम, बुखार या इनसे मिलते-जुलते लक्षण को लेकर दवा की बिक्री का रिकॉर्ड रखें. इसके अलावा हर दिन सरकार को बताएं कि कितने लोग ये दवाएं खरीदने आए. मेडिकल स्टोर संचालकों को हर दिन शाम 5 बजे तक यह रिकॉर्ड स्थानीय प्रशासन को देना होगा.

बता दें कि उत्तर प्रदेश के मेडिकल स्टोरों में ऐसे मरीज़ों का ब्यौरा दर्ज करने का काम शुरू कर दिया गया है, जो खांसी, जुकाम, बुखार या इनसे मिलते-जुलते लक्षण के साथ मेडिकल स्टोर में दवा लेने आते हैं. लखनऊ के सिविल अस्पताल के सामने एक मेडिकल स्टोर में इसके लिए बक़ायदा एक रजिस्टर मेंटेन किया गया है. हालांकि अभी तक कोई भी व्यक्ति ऐसा आया नहीं है. मेडिकल स्टोर संचालक रवि का कहना है कि कोरोना मरीज़ों की खोजबीन के मक़सद से ऐसा किया जाना प्रतीत होता है.

कोरोना के मामलों में भारत अब चीन के बेहद करीब पहुंच गया है. भारत में इस वक्त कोरोना के करीब 82 हजार मामले हो चुके हैं, जबकि चीन में कोरोना के 83 हजार केस हैं. यानी अब भारत और चीन में बस एक हजार मामलों का ही फासला रह गया है. चीन कोरोना से ऊबर चुका है जबकि भारत अभी इससे जूझ रहा है, पिछले चौबीस घंटों में करीब चार हजार नए मामले आए हैं, और 100 लोगों की मौत हुई है.

 देशभर में आज कोरोना के मरीजों की संख्या 81 हजार 970 हो चुकी है

 वहीं देशभर में अब तक कोरोना से 2649 लोगों की मौत हो चुकी है

 कोरोना से अब तक देश में 27 हजार 920 लोग ठीक हो चुके हैं.

Related Articles