फर्जी पायलट मामले में अमेरिका ने भी पाकिस्तान की उड़ानों पर लगाया प्रतिबंध

0

वाशिंगटन. ट्रंप प्रशासन (Donald Trump) ने भी कड़ा कदम उठाते हुए पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) के चार्टर विमानों के अमेरिका (US) आने पर रोक लगा दी है. अमेरिकी परिवहन मंत्रालय ने पाकिस्तानी पायलटों (Pakistan Pilot Fraud) के प्रमाणपत्रों को लेकर फ़ेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (एफ़एए) की जताई गई चिंता के बाद ये आदेश जारी किया है. इससे पहले गुरुवार को यूरोपीय यूनियन सेफ्टी एजेंसी (EASA) ने अपने 32 मेंबर देशों से कहा है कि वो फौरन पाकिस्तान (Pakistan) के पायलटों को पूरी तरह प्रतिबंधित कर दे. कल ही पाकिस्तान की एविएशन मिनिस्ट्री ने पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस के 34 पायलट्स को सस्पेंड कर दिया था.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक़, पाकिस्तान में बीते महीने हुई एक जांच में पाया गया कि उसके एक-तिहाई पायलटों ने अपनी योग्यता संबंधित ग़लत जानकारियां और काग़ज़ात दिखाए थे. उधर यूरोपीय यूनियन एविएशन सेफ़्टी एजेंसी ने भी पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस के संचालन को छह महीने के लिए रोक दिया है. हालांकि इस संदर्भ में पाकिस्तान इंटरनेशल एयरलाइन्स की ओर से अभी तक कोई टिप्पणी नहीं की गई है. पाकिस्तानी टीवी चैनल जियो न्यूज़ ने बताया कि पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस ने अमरीका के प्रतिबंधों की पुष्टि की है और कहा है कि यह एयरलाइन्स के भीतर चल रही परेशानियों को दूर करने की कोशिश करेगा.

चारों तरफ से बैन झेल रह PIA
सेफ्टी एजेंसी ईएएसए ने स्पष्ट कहा है कि पाकिस्तानी पायलटों के एक बड़े तबके के पास फर्जी लाइसेंस (करीब 40%) हैं. यह लाइसेंस पाकिस्तान की सिविल एविएशन अथॉरिटी ने ही जारी किए थे इसलिए उन पायलटों पर फौरन रोक लगाएं जिनके पास पाकिस्तान से जारी लाइसेंस हैं. बता दें कि कुवैत, ईरान, जॉर्डन, यूएई जैसे देश पहले ही पीआईए और पाकिस्तानी पायलटों को बैन कर चुके हैं. इसके बाद वियतनाम और ब्रिटेन ने भी यही फैसला किया. अब इस लिस्ट में मलेशिया भी शामिल हो गया है.

loading...
शेयर करें