अमेरिका समर्थित लड़ाकों की सीरिया में रासायनिक हमले की योजना : रूस

मॉस्को। रूसी सेना का कहना है कि अमेरिकी सेना के विशेष अभियान बलों की मदद से तथाकथित ‘फ्री सीरियन आर्मी’ सीरिया में फर्जी रासायनिक हमला करने की योजना बना रहे हैं। रूसी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता इगोर कोनाशेनकोव ने सोमवार को बयान जारी कर कहा कि सीरिया में तीन स्वतंत्र चैनलों के माध्यम से इस सूचना की पुष्टि हुई है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने इगोर के हवाले से कहा कि ‘फ्री सीरियन आर्मी’ के लड़ाके सीरियाई प्रांत डेर-अल-जौर की एक बस्ती में क्लोरीन सिलेंडर लेकर आए हैं, ताकि वे इसे नागरिकों के खिलाफ सीरियाई सरकार के सैनिकों द्वारा अंजाम दिया गया दिखा सकें। कोनाशेनकोव ने कहा कि मंत्रालय का कहना है कि सीरिया को अस्थिर करने के लिए इस तरह के भड़काऊ कदम असहिष्णु हैं।

गौरतलब है कि सात अप्रैल को विद्रोहियों के कब्जे वाले सीरिया के पूर्वी गौता में रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल हुआ था, जिसके बाद 14 अप्रैल को अमेरिका ने ब्रिटेन और फ्रांस के साथ मिलकर सीरिया के सैन्य ठिकानों पर संयुक्त हवाई हमले करने शुरू किए थे। हालांकि, रूस ने कहा था कि रासायनकि हमले के कोई निशान नहीं मिले हैं और यह सब साजिश थी।

Related Articles