अमेरिका कथित उल्लंघन को लेकर डब्ल्यूटीओ से शिकायत करे : चीन

बीजिंग। चीन ने गुरुवार को अमेरिका से अवैध आयात शुल्क के लिए बीजिंग पर आरोप लगाने के बजाय विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) से शिकायत करने को कहा। डब्ल्यूटीओ के नियमों के प्रति देश की प्रतिबद्धता को दोहराते हुए चीन के वाणिज्य मंत्री वांग शौवेन ने कहा कि यदि वाशिंगटन कथित उल्लंघनों के बारे में सुनिश्चित है तो उसे डब्ल्यूटीओ से शिकायत करनी चाहिए।

वांग ने चीनी सरकार द्वारा एक रिपोर्ट पेश की जिसमें डब्ल्यूटीओ में चीन की सदस्यता का संक्षिप्त इतिहास शामिल था, जो 2001 में शामिल हुआ था। इसमें दावा किया गया कि चीन ने सदस्य देश के रूप में अपने दायित्वों का सख्ती से पालन किया है और दुनिया में अपने बाजारों को काफी हद तक खोला है।

मंत्री ने कहा कि चीनी उत्पादों पर अमेरिकी सरकार द्वारा लगाए गए ‘एकपक्षीय’ आयात शुल्क को डब्ल्यूटीओ ढांचे के साथ फिट नहीं हो पाया था। रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया है कि चीन ने विदेशी उत्पादों के आयात पर आयात शुल्क को कम करने के संबंध में अपनी सभी प्रतिबद्धताओं को पूरा किया है और विदेशी निवेश के लिए अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों को तेजी से खोला है।

यह रिपोर्ट व्यापारिक विवाद के बीच अमेरिका द्वारा लगाए आयात शुल्क को लेकर चीन के करारा जवाब का हिस्सा है। जिसने हाल के हफ्तों में द्विपक्षीय संबंधों को प्रभावित किया, जिससे दुनिया की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच व्यापारिक युद्ध का डर बढ़ गया है।

कई देशों के उत्पादों पर आयात शुल्क लागू करने के अलावा भारी व्यापार घाटे को कम करने के उद्देश्य से अमेरिका ने कथित बौद्धिक संपदा चोरी से लड़ने के लिए अमेरिकी तकनीकी कंपनियों में चीनी निवेश को प्रतिबंधित करने की योजना की घोषणा की है। इससे पहले वाणिज्य मंत्रालय के प्रवक्ता गाओ फेंग ने गुरुवार को कहा था कि प्रतिबंध प्रतिकूल हैं और बीजिंग अपने हितों की रक्षा के लिए कदम उठाने के लिए तैयार है।

Related Articles