अमेरिका ने जताई भारत में आगामी आम चुनाव से पहले आतंकी हमले और दंगों की आशंका

0

वाशिंगटनः भारत और अमेरिका में पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी गुट हमले जारी रखेंगे।ऐसा अमेरिका का दावा है। अमेरिका के राष्ट्रीय खुफिया विभाग के निदेशक डैन कोट्स ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान का नजरिया संकुचित है।और वह उन्हीं आतंकी गुटों के विरूद्ध कार्रवाई करता है जिनसे पाकिस्तान को प्रत्यक्ष खतरा होता है। पाकिस्तान आतंकवाद को हमेशा नीतिगत हथियार के तौर पर इस्तेमाल करता है।उन्होने कहा कि इसके कारण ही तालिबान के खिलाफ लड़ाई में अमेरिकी प्रयासों को पर्याप्त सफलता नहीं मिल पा रही है।

भारत और चीन के संबंधों में कोट्स ने कहाना है कि दोनों देशों के बीच आगे भी तनाव बने रहने की आशंका है। कोट्स के मुताबिक सैन्य हलचल या सीमा पर निर्माण गतिविधियों को लेकर मतभेद के चलते दोनों देशों के बीच इस साल भी तनाव की स्थिति रहेगी। चीन अपनी आर्थिक ताकत, राजनीतिक प्रभुत्व और सैन्य क्षमता को बढ़ाने की कोशिशों में जुटा रहेगा।

वहीं, कोट्स ने भारत में 2019 के आमचुनाव से पहले सांप्रदायिक हिंसा की आशंका भी जताई है।यदि भाजपा हिंदुत्व को लेकर आगे बढ़ती है तो देश में चुनाव से पहले दंगे भड़कने की पूरी संभावना है। मोदी के पहले कार्यकाल के दौरान भाजपा की नीतियों के चलते भाजपा शासित कुछ राज्यों में सांप्रदायिक तनाव बढ़ा है। खुफिया मामलों पर अमेरिकी सीनेट के सेलेक्ट कमेटी को कोट्स ने यह बताया।

 

loading...
शेयर करें