सीरिया पर हुए मिसाइल हमले के पीछे अमेरिका का हाथ होने की आशंका

नई दिल्ली। सीरिया के होम्स प्रांत के एक सैन्यअड्डे पर सोमवार को कई मिसाइल हमले हुए, जिनमें संभावित रूप से अमेरिका का हाथ बताया जा रहा है। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, होम्स और पल्मायरा शहरों के बीच स्थित टी4 नाम से लोकप्रिय तायफुर सैन्यअड्डे पर कई मिसाइल हमले हुए। हमले में कई लोगों की मौत हुई है और कई लोग घायल हुए हैं, जिनकी सटीक संख्या पता नहीं चल पाई है।

सूत्रों के मुताबिक, सैन्यअड्डे को कई मिसाइलों से निशाना बनाया गया। सीरियाई वायुरक्षा प्रणाली ने हमले के खिलाफ कार्रवाई करते हुए आठ मिसाइलों के उनके निशाने पर पहुंचने से पहले ही नष्ट कर दिया गया। लेबनान में सोशल मीडिया पर जारी वीडियो फुटेज में देश में काफी नीचे विमानों और मिसाइलों को उड़ते देखा जा सकता है, ऐसा लग रहा है कि ये पूर्वी सीरिया की ओर जा रहे हैं। हालांकि, अमेरिकी अधिकारियों ने मिसाइल हमले से इनकार किया है।

इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सीरिया के राष्ट्रपति असद को जानवर असद कहकर संबोधित किया था। ट्रंप ने ट्वीट कर कहा था, “जानवर असद को डौमा शहर में कथित रासायनिक हमलों के लिए बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी।”

पेंटागन की ओर से जारी बयान के मुताबिक, “फिलहाल, रक्षा विभाग सीरिया पर हवाई हमले नहीं कर रहा है। हालांकि, हम स्थिति पर करीब से नजर बनाए हुए हैं और सीरया और कहीं भी रासायनिक हमलों के इस्तेमाल के लिए जिम्मेदार लोगों को कटघरे में खड़ा करने के लिए जारी राजनयिक प्रयासों का समर्थन करते हैं।”

Related Articles