अमेरिकी विदेश मंत्री ने दिया विवादित बयान, बोले- ईरानी धार्मिक नेता पाखंडी

वॉशिंगटन: अमेरिका और ईरान आपसी संबंधों में बीते कुछ दिनों से काफी कड़वाहड देखी जा रही है। दोनों ही देश एक दूसरे पर तीखे हमले कर रहे हैं। इस बीच अमेरिकी विदेश मंत्री ने माइक पोंपियो ने ईरान पर आपत्तिजनक बयान दिया है। पोपियां ने ईरानी धार्मिक नेताओं के पाखंडी करार दिया है।

ईरान के धार्मिक नेताओं को यूएस ने बताया पाखंडी

दरअसल, अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोंपियो कैलिफोर्निया में एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि हम ईरान के खिलाफ सबसे उच्च स्तर पर प्रतिबंध लगाने से नहीं डर रहे हैं। यही नहीं अपने भाषण के दौरान पोंपियों ने कहा कि ईरानी धार्मिक नेता पाखंडी हैं। उन्होंने कहा कि इन धार्मिक पुरुषों को गुजारे के लिए काफी मात्रा में लोगों का पैसा लगा है। उन्होंने कहा कि कई बार लगता है कि तानाशाही सरकारों और विदेशों में उनकी हिंसा से दुनिया असंवेदनशील गई है। लेकिन बहादुर गर्व ईरानी लोग अपनी सरकारों के ऐसे खराब आचरण के विरुद्ध चुप नहीं बैठ रहे हैं।’

अमेरिका शांत नहीं बैठेगा- पोंपियो

विदेश मंत्री ने ईरान को चेताते हुए कहा कि अमेरिका और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप दोनों ही शांत नहीं बैठेंगे। पोंपियो ने आगे कहा, ‘उनके प्रदर्शनों और 40 साल की तानाशाही को देखते हुए ईरान की जनता से यही कहूंगा कि अमेरिका आप लोंगों को सुन रहा है और उनके समर्थन में खड़ा है। पोंपियो यहीं नहीं रुके उन्होंने अपने भाषण के दौरान ईरान की हसन रुहानी सरकार और उनके नेताओं को माफिया भी कहा है।

ट्रंप और रुहानी में शुरू हुआ कोल्ड वॉर

इससे पहले ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने अमेरिकी सरकार को चेतावनी देते हुए कहा था कि वे शेर की पूंछ से खेलने की कोशिश ना करें, नहीं तो उन्होंने पछताना पड़ेगा। उनके इस बयान के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी पलटवार किया। उन्‍होंने ट्विटर पर धमकी देते हुए लिखा, ‘ईरान के राष्‍ट्रपति रूहानी कभी भी अमेरिका को डराने की कोशिश न करें, वरना इसका परिणाम ऐसा होगा जो कि इतिहास में कभी नहीं हुआ होगा।

Related Articles