अमेरिकी विदेश मंत्री ने पीएम मोदी से की मुलाकात, इन समझौतों पर हुई बात

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM modi) से मुलाकात की। इस मुलाकात में एक मौजूदा समझौते के प्रावधानों का विस्तार किया, जिसके तहत सहयोगी देशों को कनेक्टिविटी, व्यापार और निवेश, स्वास्थ्य सेवा तथा कृषि जैसे विभिन्न क्षेत्रों में संयुक्त रूप से क्षमता निर्माण में मदद दी जाती है।

विदेश मंत्रालय ने बताया कि दोनों पक्षों ने वैश्विक विकास के एसजीपी में दूसरे संशोधन पर हस्ताक्षर हुए है। एसजीपी समझौते पर नवंबर 2014 में हस्ताक्षर किए गए थे और नए संशोधन ने समझौते की वैधता को 2026 तक बढ़ा दिया है।

दूसरा संशोधन

दूसरा संशोधन भारत और अमेरिका द्वारा संयुक्त रूप से किए गए क्षमता निर्माण गतिविधियों के दायरे का विस्तार करता है। विदेश मंत्रालय के मुताबिक, ‘भारत और अमेरिका मुख्य रूप से कृषि, क्षेत्रीय संपर्क, व्यापार और निवेश, पोषण, स्वास्थ्य, स्वच्छ और अक्षय ऊर्जा, महिला सशक्तिकरण, आपदा को लेकर तैयारी, जल, स्वच्छता, शिक्षा और संस्थान निर्माण पर ध्यान केंद्रित करते हुए, कई क्षेत्रों में भागीदार देशों को क्षमता निर्माण सहायता प्रदान करना जारी रखेंगे।’

दोनों राष्ट्रों के बीच यह समझौता

विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘दोनों राष्ट्रों के बीच यह समझौता हुआ है। दोनों देश मिलकर काम करने और मांग-संचालित विकास साझेदारी प्रदान करने के लिए अपनी संयुक्त क्षमताओं का लाभ उठाने की संयुक्त प्रतिबद्धता को पूरा करने में सहायता करता है।’ अमेरिका के साथ यह त्रिकोणीय सहयोग भारत की मौजूदा और भविष्य की विकास साझेदारी, क्षमता निर्माण और विश्व स्तर पर देशों के साथ तकनीकी सहयोग में सहायक होगा।

Related Articles