धुलकर बाजार में बिक रही है यूज्ड PPE किट, विडियो वायरल होने से हरकत में आया प्रशासन

भोपाल/सतना: मध्यप्रदेश में PPE किट को लेकर एक एसका मामला सामने आया है जिसे पढ़कर आपके होश उद्द जायेंगे. यहं सतना जिले से डरावना और शर्मनाक वीडियो वायरल हुआ है. यहां बड़खेरा बायो Waste Disposal Plant में सिंगल यूज PPE किट को गर्म पानी में धोकर बंडल बनाए जा रहे हैं. इसके बाद कबाड़ियों के माध्यम से सतना और भोपाल के खुले बाजार में दोबारा PPE किट के तौर पर बेचा जा रहा है. इस मामले में यहाँ के कमिश्नर ने जांच के आदेश दिए हैं.

मध्य प्रदेश शासन की गाइडलाइन के मुताबिक PPE किट, दस्ताने और मास्क को नष्ट करने के लिए बड़खेरा में Indo Water Bio Waste Disposal Plant में भेजा जाता है, लेकिन प्लांट में ऐसा नहीं किया जा रहा है. यहां कर्मचारी प्लांट प्रबंधन के इशारे पर PPE किट को गर्म पानी से धोकर बाकायदा अलग बंडल बनाकर रख देते हैं. इसके बाद गोपनीय तरीके से इसे बेच दिया जाता है. कल मंगलवार देर रात 11 से 12 बजे के बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ. पड़ताल में पता चला कि बड़खेरा गांव के एक स्थानीय युवक ने चोरी-छिपे बायो वेस्ट डिस्पोजल प्लांट के अंदर चल रही करतूत का वीडियो मोबाइल फोन में कैद कर वायरल किया था.

वीडियो वायरल होने पर खुली पोल

25 मई मंगलवार देर रात लगभग 11 बजे के बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब वायरल हो रहा था. जिस विडियो को बड़खेरा गांव के एक स्थानीय युवक ने चोरी-छुपे बनाया था. वीडियो में साफ देखा गया कि कुछ लोग सिंगल यूज़ PPE किट और ग्लव्स को एक टब में डालकर धोकर सुखाते हैं. साथ ही प्लांट के अंदर काम कर रहे मजदूर बंडल तैयार करते हैं. जो कि एक दम नए बंडल की तरह दिखता है. मामला प्रकाश में आने के बाद मध्य प्रदेश के सतना जिला प्रशासन की टीम ने प्रदूषण विभाग की टीम प्लांट में जांच के लिए भेजी है. जिला प्रशासन अब कार्रवाई करने का आश्वासन दे रहा है. ऐसे में ये उन कर्मचारियों के लिए भी घातक है जो इसे धुलकर इसका बण्डल बना रहे हैं.

तीन डिपार्टमेंट की होती है जिम्मेदारी

जानकारी एकत्र करने पर सूचना मिली कि Bio Waste Disposal Plant के रखरखाव और देख रेख की ​जिम्मेदारी पाल्यूशन कण्ट्रोल डिपार्टमेंट, डिस्ट्रिक्ट एडमिनिसट्रेशन और हेल्थ डिपार्टमेंट की होती है, लेकिन सूत्रों की मानें तो किसी भी विभाग के जिम्मेदार अधिकारी कभी भी मौके पर नहीं जाते. ऐसे में बायो वेस्ट एजेंसी मनमाने तरीके से काम कर रही है. मामले में CMHO डॉ. अशोक कुमार अवधिया का कहना है कि बायो वेस्ट के मामले में जो वीडियो वायरल हुआ है। उसके बारे में बायो वेस्ट एजेंसी वाले ही बता सकते हैं। हम तो बायो वेस्ट उठाने के पैसे देते हैं।

PPE किट का न करें दोबारा इस्तेमाल

डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल के डॉक्टर का कहना है कि सिंगल यूज PPE किट इसीलिए बनाई जाती है, क्योंकि उसका दोबारा इस्तेमाल न हो. धोने से उसके रेशों का गैप बढ़ सकता है और तब यह सुरक्षित नहीं रहेगा. गर्म पानी में धोने से वायरस नष्ट हो जाता है या नहीं, इस​का दावा नहीं किया जा सकता.

ये भी पढ़ें :झारखंड में Cyclone Yaas का तांडव, यूपी-बिहार में रेड अलर्ट, नदियों का उफान बढ़ा 

Related Articles