पैसा लेकर करते थे ये गंदा काम, एसटीएफ के जाल में उलझ गए

लखनऊ: उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पैसा लेकर नकल कराने वालें गिरोह के पांच सदस्यों को हरिद्वार (उत्तराखण्ड) के कनखल इलाके से गिरफ्तार कर लिया।

एसटीएफ प्रवक्ता ने आज यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में अनुचित लाभ कमाने के उद्देश्य से पेपर लीक कराकर, साॅल्वर बैठाकर व अन्य तरीके से अभ्यर्थियों से पैसा लेकर दिल्ली एंव उत्तर प्रदेश आदि राज्यों में भर्ती कराने वालें नकल माफिया गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है।

इन पांचो पर गिरी गाज 

सहारनपुर के खडलाणा निवासी अंकुर कुमार के अलावा हरियाणा के हिसार जिला निवासी राहुल कुमार, राेहतक निवासी कुलवीर, मोहित धनकड़ और अजय को जगजीतपुर, कनखल, हरिद्वार के पास बद्री बिहार कालोनी जगजीतपुर से गिरफ्तार किया गया।

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से 05 मोबाइल फोन, लैपटाप ,दो वाईफाई राउटर,तीन स्टाम्प एस एम पब्लिक स्कूल, डीआरडीओ बायोमैट्रिक रजिस्ट्रेशन के प्रिन्टेड खाली फार्म 90 वर्क, डीआरडीओ सैप्टम-09 स्क्राईब डिक्लरेशन प्रिन्टेड खाली फार्म-कुल 81 वर्क के अलावा एक लाख 23 हजार की नकदी और दो लग्जरी कारें बरामद की गई।

एसटीएफ को मिली थी गिरोह के सक्रिय होने की सूचनायें

प्रवक्ता ने बताया कि एसटीएफ को विभिन्न भर्ती परीक्षाओं में अनुचित लाभ कमाने के उद्देश्य से पेपर लीक कराकर अभ्यर्थियों को पैसा लेकर विभिन्न राज्यों में भर्ती कराने वालें गिरोह के सक्रिय होने की सूचनायें प्राप्त हो रही थीं।

इस सम्बन्ध में एसटीएफ के पुलिस महानिरीक्षक अभिताभ यश के निर्देशन में मेरठ एसटीएफ के पुलिस कुलदीप नारायण एवं प्रभारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनिल सिंह सिसौदिया द्वारा एसटीएफ की विभिन्न इकाईयों/टीमों को अभिसूचना संकलन एवं कार्रवाई के लिए निर्देशित किया गया था।

उन्होंने बताया कि इसी क्रम में एसटीएफ की मेरठ फील्ड इकाई के पुलिस उपाधीक्षक बृजेश कुमार सिंह के नेतृत्व में टीम गठित कर अभिसूचना संकलन की गयी।

नकलचियों पर एसटीएफ की धमाकेदार कार्रवाई

इसी क्रम में जानकारी प्राप्त हुई कि हरिद्वारा (उत्तरांखण्ड) के कनखल इलाके में जगजीतपुर स्थित एसएम पब्लिक स्कूल में दिल्ली पुलिस आरक्षी भर्ती की परीक्षा में नक़ल हो रही है। कुछ व्यक्तियों ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश व अन्य प्रान्तों के परीक्षार्थियों से नकल कराने की एवज में बड़ी धनराशि  रखी है तथा नकल कराने वाले व्यक्ति स्कूल के पास बद्री बिहार कालोनी में मौजूद है।

सूचना पर एसटीएफ ने कनखल पुलिस के साथ मौके पर पहुंच कर दो कारों पर सवार पांच आरोपियों को दबोच लिया जबकि कार के पास खड़ा उनका साथी बागपत जिले के बडौत इलाके के महावतपुर बाबली निवासी गौरव तोमर उर्फ सद्दाम फरार हो गया। उसकी गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं।

प्रवक्ता ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ पर बताया कि गिरोह के लोग विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी कराते हैं और परीक्षार्थियों को परीक्षा पास कराने की एवज में नकल कराने के लिये पैसे लेते हैं।

नकल करवाने की एवज में 1,23,000 रूपये की वसूली

पुलिस भर्ती परीक्षा में सम्मिलित कुछ युवकों से परीक्षा में नकल करवाने की एवज में 1,23,000 रूपये लिए थे। गिरफ्तार सभी आरोपी परीक्षा में सम्मिलित होने वाले परीक्षार्थियों को नकल कराने के लिये एकत्रित हुये थे।

ये लोग उपलब्ध उपकरणों के माध्यम से परीक्षा में सम्मिलित परीक्षार्थियों को धोखाधडी से नकल कराते हैं। गिरफ्तार आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।

यह भी पढ़ें- नितीश का संकल्प बिहार का करेंगे विकास, राज्य में लागू सात निश्चय पार्ट-2 

Related Articles