उत्तराखंड ग्लेशियर त्रासदी Update: 36 शव बरामद, टनल के अंदर ड्रिल करने का प्रयास

चमोली जिले के तपोवन में आज छठे दिन भी बचाव अभियान जारी है। राज्य सरकार के अनुसार अब तक 36 शव बरामद किए जा चुके हैं और 204 लोग लापता हैं

उत्तराखंड: उत्तराखंड (Uttarakhand) के चमोली में जोशीमठ के पास तपोवन इलाके में 7 फरवरी को ग्लेशियर फटने से राज्य में तबाही मची हुई है। चमोली जिले के तपोवन में आज छठे दिन भी बचाव अभियान जारी है। राज्य सरकार के अनुसार अब तक 36 शव बरामद किए जा चुके हैं और 204 लोग लापता हैं।

तपोवन में बचाव अभियान

चमोली के तपोवन में बचाव अभियान जारी है। NDRF के कमांडेंट ने बताया कि लगातार हमारी टीम यहां काम कर रही है। नई मशीनों के द्वारा भी यहां काम शुरू हो चुका है। नदी के किनारे भी हम अपनी एक टीम भेज रहे हैं ताकि वहां रास्ते में जो शव फंसे हो उसका पता लगा सकें।

DIG ने जानकारी दी कि संभावना व्यक्त की जा रही है कि तपोवन के पास रैनी गाँव के ऊपर पानी जमा हुआ है इसको देखते हुए आज SDRF की 8 टीम को वहां रवाना किया गया है और वो वहां देखेंगे कि वहां पर क्या स्थिति है तभी हम आगे की कार्रवाई को अंजाम दे सकेंगे।

यह भी पढ़़ेBudget Session: निर्मला सीतारमण ने विपक्ष पर कसा तंज, कहा ‘दामाद’ शब्द कांग्रेस का Trade Mark है

टनल में फंसे लोग

डीजीपी, अशोक कुमार ने कहा कि तपोवन टनल के 12 मीटर नीचे छोटी टनल है जहां संभावना थी कि कुछ लोग फंसे हुए हैं लेकिन हम कल 6 मीटर तक ही ड्रिल कर पाए थे लेकिन आज हम वहां दूसरी मशीन लगाकर फिर से ड्रिल करने का प्रयास करेंगे।

उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने बयान में बताया कि झील (रैनी गांव के पास) की जो अभी स्थिति है उससे सवाधान रहने की जरूरत है, घबराने की जरूरत नहीं। झील लगभग 400 मीटर लंबी है गहराई का अभी अनुमान नहीं है। आज भी वहां वैज्ञानिकों की टीम जा रही है, वो वहां का अध्ययन कर सरकार को रिपोर्ट देगी।

यह भी पढ़ेकिसान महापंचायत Live: राहुल बोले ‘पहला कानून मंडी को खत्म करने का कानून है’

Related Articles

Back to top button