मूसलाधार बारिश से नदियों में उफान, तीन दिनों का अलर्ट जारी

0

देहरादून। बदलते मौसम के रुख से उत्तराखंड के हालात खराब होते जा रहे हैं। तेज आंधी और बारिश ने नदियों के जल स्तर को काफी बढ़ा दिया है। बढ़े हुए जल स्तर के कारण नदियां उफान पर हैं। इसलिए लोगों की सेफ्टी को ध्यान में रखते हुए नदी से सटे हुए मैदानों को खाली करा दिया गया है। साथ तीन दिन का अलर्ट भी जारी किया गया है।

एयरटेल की लापरवाही से सैनिक का बैंक एकाउट साफ़, जानिए क्या…

उत्तराखंड के हालात खराब

खबरों के मुताबिक़ तेज बारिश से शिवपुरी क्षेत्र में हेंवल नदी का जलस्तर अचानक बढ़ गया। नदी का जलस्तर बढ़ने से कैंप संचालकों व उनमें रुके पर्यटकों में हड़कंप मचा गया।

लिहाजा मुनिकीरेती थाना पुलिस ने एहतियात के तौर पर नदी के किनारे लगे करीब 150 बीच कैंपों को सुरक्षा के मद्देनजर खाली करा दिया है। वहीं उस दौरान वहां दो बाइकसवार युवक नदी में फंस गए। इसके बाद पुलिस ने उन्हें रेस्क्यू किया।

गढ़वाल और कुमाऊं में कई जगह पर बारिश के कारण मार्ग भी बंद हो गए हैं। जिससे तीर्थयात्रियों को आवागमन में परेशानी उठानी पड़ रही है।

इस शादीशुदा प्रेमी जोड़े की करतूत जानकर रिश्तों पर भरोसा करना…

वहीं बारिश के कारण चारधाम यात्रा मार्ग पर भी कई जगह मलबा आने से यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ रही है। सुबह तेज बारिश के कारण बदरीनाथ हाईवे मार्ग भी अवरुद्ध हो गया था। जिसे दोपहर को खोला गया।

वहीं मौसम विभाग ने देहरादून, टिहरी, पौड़ी और नैनीताल में 15 से 17 जून तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

शुक्रवार को भी प्रदेश के कई हिस्सों में सुबह से ही बारिश हो रही है। इससे हालांकि गर्मी से राहत मिली है, लेकिन नदियों का जलस्तर बढ़ने से खतरा भी बना हुआ है। प्रदेश के अन्य जिलों में भी हल्की बारिश की संभावना है।

उधर, कई दिनों से भीषण गर्मी व उमस की मार झेल रहे तीर्थनगरी व समीपवर्ती इलाकों के लोगों ने रात के समय करीब आधा घंटे हुई झमाझम बारिश के चलते तापमान में गिरावट आने से राहत महसूस की।

बारिश के बाद क्षेत्र में मौसम खुशगवार हो गया। पुलिस व एसडीआरएफ की टीम कैंपों को खाली कराने व नदी में फंसे वाहनों को निकालने में जुटी रही।

loading...
शेयर करें