लक्ष्य के मुताबिक नहीं हो पाया टीकाकरण, कोरोना योद्धाओ के साथ भाजपा सांसद ने भी ली पहली खुराक

नई दिल्लीः कोरोना माहमारी (Covid-19) को मात देने के लिए वैक्सीनेशन (Vaccination) की शुरुआत पुरे विश्व में युद्धस्तर पर हो चुकी है। तो वहीँ भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने भी शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये विश्व के सबसे बड़े कोरोना वैक्सीनेशन (Vaccination) प्रोग्राम का का आगाज कर दिया है।

पहले दिन 2 लाख लोगो को लगाई गई कोरोना वैक्सीन

सबसे पहले ये टीका कोरोना वॉरियर्स यानी स्वस्थ्य कर्मियों, सफाईकर्मियों, सैनिको, शिक्षकों अदि को लगाया जाना है। ये टीका दो खुराकों में लगाया जाएगा। इस पहल में पहले दिन लगभग 2 लाख स्वस्थ्य तथा सफाईकर्मियों को टीके की पहली खुराक दी गई।

लक्ष्य के मुताबिक नहीं हो पाया टीकाकरण (Vaccination)

पहले दिन के लक्ष्य में लगभग 3.15 लाख लोगो को टीका (Vaccine) लगाया जाना था। लेकिन लक्ष्य से हटकर सिर्फ 64 प्रतिशत लोगो को ही टीका लगाया जा सका। अबतक मिली सूचना के अनुसार करीब 2 लाख कर्मचारियों को टीके की पहली खुराक दी जा चुकी है।

टीकाकरण (Vaccination) की शुरुआत से लोगो में कोरोना महामारी (Corona Pendemic) से निजात की आशा जाग उठी है। भारत में निर्मित कोविशील्ड’ और ‘कोवैक्सीन’ का टीकाकरण (Vaccination) भारत में युद्धस्तर पर किया जा रहा है। बता दें की भारत में अबतक कोरोना से संक्रमित होने के कारण लगभग 1.5 लाख लोगों की मौत हो चुकी है।

भाजपा सांसद ने भी लगवाई वैक्सीन

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार भारत में टीकाकरण (Vaccination) के पहले दिन शाम 5 बजे तक 3,351 केंद्रों पर डेढ़ लाख से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों और सफाईकर्मियों को टीके की पहली खुराक दी गई। टीकाकरण (Vaccination) के शुरूआती दौर में स्वास्थयकर्मियों के अलावा एम्स दिल्ली के निदेशक रणदीप गुलेरिया, नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल, भाजपा सांसद महेश शर्मा और पश्चिम बंगाल के मंत्री निर्मल माजी को भी वैक्सीन की पहली खुराक दी गई।

ये भी पढ़ें: इतिहास में दर्ज Corona Vaccine संजीवनी बूटी, लोगों का भ्रम हुआ दूर, जानें कैसे?

Related Articles

Back to top button