लखनऊ में भी निकलेगी ‘वाजपेयी’ की ‘अस्थि कलश यात्रा’, मंगलवार को पहुंचेंगे 20 अस्थि कलश

लखनऊ। आज हरिद्वार में गंगा नदी में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियों का विसर्जन किया गया। विसर्जन उनकी बेटी नमिता ने किया इस अवसर पर उनका पूरे परिवार के साथ भाजपा के सभी बड़े नेता उपस्थित थे। इसी बीच ये फैसला लिया गया कि यूपी की राजधानी लखनऊ में उनकी 20 अगस्त को आने वाली अस्थियां अब 21 अगस्त को आएंगी।

दरअसल, अस्थि विसर्जन कार्यक्रम के कारण लखनऊ का कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया है। 21 अगस्त को वशेष विमान से अटल बिहारी वाजपेयी के 20 अस्थि कलश को लाया जाएगा।

अस्थि कलशों को सम्मानपूर्वक प्राप्त करने के लिए चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट, अमौसी पर राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, मंत्री, भाजपा के प्रमुख पदाधिकारी व अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहेंगे। अस्थि कलश लेने के लिए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय व चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन दिल्ली जाएंगे।


21 अगस्त को दिन में 10 बजे प्रदेश भाजपा मुख्यालय से सजे-धजे वाहनों में इन अस्थि कलशों को प्रमुख नदियों (गंगा, यमुना, सरयू, राप्ती, गोमती, मंदाकिनी और सोत) में प्रवाहित करने के लिए इलाहाबाद, इटावा, अयोध्या, कानपुर, जौनपुर, मीरजापुर, इटावा, फर्रुखाबाद, फतेहगढ़, कन्नौज, गोरखपुर, बदायूं, चित्रकूट के साथ गढ़मुक्तेश्वर आदि जगह पर भेजा जाएगा। हर कलश के साथ सरकार के एक मंत्री और पार्टी के पदाधिकारी मौजूद रहेंगे।

लखनऊ से अटल जी के खास रिश्तों के कारण 23 अगस्त को यहां झूलेलाल पार्क में सर्वदलीय श्रद्धांजलि सभा होगी। इसी दिन यहां गोमती में अस्थि कलश का विसर्जन होगा। इस अवसर पर अटलजी के परिवारीजन, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उपस्थित रहेंगे।

प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर इस कार्यक्रम के प्रभारी होंगे। 25 अगस्त को जिलों में और 27 एवं 28 अगस्त को मंडल इकाइयों में श्रद्धांजलि सभाएं होंगी। कार्यक्रमों का सफल बनाने के लिए सभी जिलों और क्षेत्रों के अध्यक्ष को निर्देश दिए जा चुके हैं। कल प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने सभी कार्यक्रमों की तैयारियों की समीक्षा की।

Related Articles