वाराणसी बनेगा विकास का बेहतरीन मॉडल, 2021 में कई योजनाए होंगी पूरी  

योगी आदित्यनाथ ने वाराणसी को विकास का मॉडल बताते हुए सोमवार को कहा कि इस दिसंबर में 146 करोड़ रुपये की 14 विकास परियोजनाएं पूरी कर ली जाएंगी जबकि 2021 में कई योजनाओं को पूरा करने की दिशा में तेजी से काम चल रहा है।

वाराणसी: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वाराणसी को विकास का मॉडल बताते हुए सोमवार को कहा कि इस दिसंबर में 146 करोड़ रुपये की 14 विकास परियोजनाएं पूरी कर ली जाएंगी जबकि 2021 में कई योजनाओं को पूरा करने की दिशा में तेजी से काम चल रहा है।

उन्होंने अपने एक दिवसीय दौरे में आला अधिकारियों के साथ बैठक कर विकास परियोजनाओं की समीक्षा की। सीएम योगी ने काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन पूजन के बाद काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया। उन्होने कॉरिडोर रैन बसेरा का औचक निरीक्षण कर जरूरतमंदों को कंबल भेंट किया तथा अधिकारियों को उनकी उचित देखभाल करने के निर्देश दिये।

विकास कार्यों को बताया ‘ऐतिहासिक’

सीएम योगी ने वाराणसी में हजारों करोड़ रुपये के विकास कार्यों को ‘ऐतिहासिक’ बताते हुए कहा कि इससे आने वाले समय में लोगों को और अधिक लाभ मिलेगा। इसी माह 146 करोड़ रुपये के कार्य और पूर्ण हो जाएंगे। अगले वर्ष 2021 में हजारों करोड़ रुपये की महात्वाकांशी परियोजनाओं के पूरा करने का लक्ष्य है। उन्होंने कहा 186 करोड रुपये लागत का कन्वेंशन सेंटर रुद्राक्ष मार्च, 2021 में और बीएचयू में 107.36 करोड़ रुपये का आईयूसीटीई भवन, 121.26 करोड़ रुपये की आवासीय भवन, 200 कमरे का महिला छात्रावास, कैंसर हॉस्पिटल बीएचयू में डॉक्टर नर्सेज हॉस्टल, धर्मशाला का 130 करोड़ रुपए लागत की परियोजना कार्य जून से सितंबर, 2021 तक पूर्ण हो जाएंगे।

वाराणसी में व्यापक रूप में सड़कों का चौड़ीकरण

मुख्यमंत्री ने कहा कि 5-6 वर्षों में वाराणसी में व्यापक रूप में सड़कों का चौड़ीकरण हुआ। 806 करोड़ रुपये की लागत से सुल्तानपुर-वाराणसी चार लेन चौड़ीकरण की परियोजना मार्च, 2021 में पूर्ण हो जाएगी। घाघरा ब्रिज वाराणसी सेक्शन में चार लेन चौड़ीकरण की 785 करोड़ रुपये की परियोजना तथा वाराणसी-गाजीपुर सेक्शन के चौड़ीकरण परियोजना 868.50 करोड़ रुपये की मार्च, 2021 में पूर्ण कर ली जाएंगी। इससे वाराणसी का पूर्वांचल के दूसरे जिलों से बेहतर सड़क यातायात व्यवस्था बनेगी।

वाराणसी रिंग रोड फेज-2 के 1354.67 करोड़ रुपये की परियोजना

सीएम योगी ने कहा कि वाराणसी रिंग रोड फेज-2 के 1354.67 करोड़ रुपये की परियोजना भी गति पकड़ चुकी है। इसके लगभग 25 फ़ीसदी कार्य पूर्ण हो चुके है। भिखारीपुर तिराहे से एनएच-2 तक चौड़ीकरण, कैंट से पड़ाव मार्ग का चौड़ीकरण मार्च, 2021 में पूर्ण हो जाएंगे। बाबतपुर कपसेठी भदोही पर आरओवी जून, 2021 में बन जाएगा। वाराणसी-औड़िहार पर आरओवी फरवरी, 2021 में पूर्ण हो जाएगा। वरुणा नदी पर कालिकाधाम के पास सेतु निर्माण भी जून, 2021 मैं बनकर तैयार हो जाएगा।

काशी विश्वनाथ धाम परियोजना का युद्ध स्तर पर हो रहा कार्य

उन्होंने कहा कि काशी विश्वनाथ धाम परियोजना का युद्ध स्तर पर कार्य हो रहा है। इसे अगस्त, 2021 में पूर्ण कर दिया जाएगा। शहरी क्षेत्र के घरों में रसोई गैस पाइपलाइन परियोजना के तहत 23,600 घरों में इंफ्रास्ट्रक्चर कार्य पूर्ण कर लिये गये हैं। लगभग 4000 घरों में पाइप लाइन से गैस आपूर्ति भी हो रही है। शहर में 10 सीएनजी स्टेशन क्रियाशील है तथा तीन सीएनजी पंप निर्माणाधीन है। उन्होंने कहा कि गोदौलिया पर पार्किंग, सर्किट हाउस पर पार्किंग कार्य 70 फीसदी भी पूर्ण हो गये हैं। जो मार्च, 2021 तक पूर्ण हो जाएंगे। टाउनहॉल व बेनियाबाग पार्किंग भी सितंबर-दिसंबर, 2021 तक पूर्ण हो जाएंगे।

ये भी पढ़ें : क्षमता से अधिक लोडेड वाहनों पर होगी कार्रवाई: जिला प्रशासन

चिकित्सा सेवाओं के इंफ्रास्ट्रक्चर में हो रही बढ़ोतरी

योगी ने कहा कि चिकित्सा के क्षेत्र में पूर्वांचल का मुख्य केंद्र बन चुके वाराणसी में दिन-प्रतिदिन स्वास्थ्य तथा चिकित्सा सेवाओं के इंफ्रास्ट्रक्चर में बढ़ोतरी हो रही है। रामनगर चिकित्सालय में भवनों का निर्माण, दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय परिसर में में 50 सैयायुक्त महिला चिकित्सालय निर्माण, अगले माह जनवरी, 2021 में पूरा कर लिये जाएंगे। एसटीपी रमन्ना एवं एसटीपी रामनगर के अवशेष कार्य मार्च, 2021 तक पूरा हो जाएगा।

ये भी पढ़ें : द वाइट टाइगर का ट्रेलर हुआ रिलीज, नौकर ने खुद को बनाया रईस

रीडिवेलपमेंट के कार्य जुलाई 2021 में होंगे पुरे

मुख्यमंत्री ने कहा कि पुरानी काशी के वार्ड- कालभैरव, कामेश्वर महादेव, राजमंदिर, जंगमबाड़ी, दशाश्वमेध वार्डों का रीडिवेलपमेंट के कार्य जुलाई, 2021 में पूर्ण हो जाएंगे। शहर के 720 स्थानों पर एडवांस सर्विलांस कैमरा के स्थापना कार्य भी मार्च, 2021 में पूर्ण हो जाएंगे। शहर के लिए पर्यटक आकर्षक का केंद्र बनने वाले दशाश्वमेध घाट पुनर्विकास परियोजना एवं खिड़कियां घाट परियोजना अगले वर्ष में बनकर तैयार हो जाएंगे।

 

Related Articles