विक्रांत मैसी और श्वेता त्रिपाठी की साइंस फिक्शन फिल्म ‘कार्गो’, जीवन-मृत्यु की एक अलग कहानी

0

मुंबई: निर्देशक आरती कादव की डेब्यू फिल्म ‘कार्गो’ जिसमें साल 2027 की कहानी दिखाई गयी है। इस जीवन और मृत्यु की कहानी को 5 में से 3 की रेटिंग मिलनी चाहिए। इस फिल्म में आपको विक्रांत मैसी, श्वेता त्रिपाठी और नंदू माधव नज़र आएंगे। जिसमें मनुष्य और दानव की आपसी नोक-झोक को दिखाने की कोशिश की गई है। वैसे तो ये फिल्म बाकी फिल्मों की तरह बिलकुल भी नहीं है क्यूंकि ये फिल्म साइंस फिक्शन पे आधारित है।

ये फिल्म ओटीटी प्लेटफार्म नेटफ्लिक्स पे उपलब्ध है। इस फिल्म को बहुत ही साधारण तरीके से पेश किया गया है।

अनुराग कश्यप की इस काल्पनिक फिल्म में एक्टर विक्रांत मैसी आपको एहम किरदार निभाते हुए नज़र आएंगे। विक्रांत मैसी आपको प्रहस्थ का किरदार निभाते हुए नज़र आने वाले है। फिल्म के शुरुआत में ये दिखाया गया है की आने वाले लोग मरे हुए है। और अंतरिक्ष स्टेशन पे आने के बाद इनको ये बात बताया जाता है और इसकी वजह भी बतायी जाती है। इसके बाद इन लोगों का सारा याददाश्त हटा दिया जाता है जिसके बाद इन्हें अपने बारे में कुछ भी याद नहीं रहता है। ये सब देख के आपको ये अंतरिक्ष का पुष्पक 634 – ए किसी हॉस्पिटल जैसा ही दिख रहा होगा। लेकिन ऐसा कुछ नहीं है, यहाँ पे मरे हुए इंसानों की एक अलग ही दुनिया बनाई गयी है। इस फिल्म में आपको इस युग के यमराज बिना किसी वेश भूषा धारण किये हुए प्रहस्थ के किरदार में दिखेंगे। जैसा की हमने आपको बताया की प्रहस्थ मरे हुए लोगों को वापिस ठीक करने में मदद करते है। लेकिन इसके बाद प्रहस्थ को अपने काम को और बेहतर करने के लिए एक असिस्टेंट की आव्यशकता पड़ जाती है। जिसके लिए वो अपने सीनियर से एक असिस्टेंट को बुलवाने के लिए कहते है। उनके कहने पर उनकी ये बात मान ली जाती है।

इस कहानी में असली मोड़ तब आता है जब श्वेता त्रिपाठी की एंट्री होती है। एक्ट्रेस श्वेता त्रिपाठी आपको इस फिल्म में युविष्का शेखर के किरदार में नज़र आएँगी। जो बहुत ही चुलबुली है और इन्हे दानव और इंसानो के इंटरप्लेनटरी स्पेस आर्गेनाइजेशन द्वारा भेजा गया है। युविष्का अपने सीनियर से बिलकुल अलग है। और वो आज के ज़माने की लड़की है। युविष्का को प्रहस्थ के असिस्टेंट के तौर पर रखा जाता है। लेकिन प्रहस्थ अपने लिए एक मेल असिस्टेंट डिमांड करते है। शुरुआत में दोनों में थोड़ी सी अनबन होती है। जिसके वजह से प्रहस्थ श्वेता के ऊपर इलज़ाम भी लगा देता है। लेकिन फिर बाद में सब कुछ सुलझ जाता है। और दोनों एक साथ काम करते हुए दिखाई देते है।

फिल्म के आखिरी अंश में ये दिखाया गया है की प्रहस्थ को अपना काम बहुत अच्छा लगता है जिसके वजह से वो धरती पर वापिस लौटना नहीं चाहता है। दोनों कलाकारों ने अपना अभिनय बखूबी निभाया है। इनके करियर की शुरुआत टीवी सीरियल से हुई थी। इससे पहले एक्टर विक्रांत मैसी कई वेब सीरीज में नज़र आ चुके है जिनमें मिर्ज़ापुर, ब्रोकन बट ब्यूटीफुल, मेड इन हेवन और क्रिमिनल जस्टिस शामिल है। वहीं दूसरी तरफ एक्ट्रेस श्वेता त्रिपाठी के बारे में बताये तो ये वट इज़ लाइफ, मसान और द ट्रिप में दिखाई दे चुकी है। और भारत में ऐसी फिल्मों की आव्यशकता बहुत ज़्यादा है। क्यूंकि यहाँ पे ऐसी साइंस फिक्शन आधारित फिल्में बहुत कम ही देखने को मिलती है।

शेयर करें