उत्तराखंड: विवादित जमीन पर रखी अंबेडकर की मूर्ति, बवाल

lathicharge-in-laksar

लक्सर (रुड़की)। विवादित जमीन पर बाबा साहब अंबेडकर की मूर्ति रखने पर एक इला‍के में विवाद हो गया जिसमें 20 महिलाओं समेत 34 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। मामला दर्ज करने के बाद 16 महिलाओं और 14 पुरुषों को जेल भेज दिया गया है।

आधी रात को रखी गई मूर्ति
रुड़की के लक्सर गांव में एक विवादित भूमि पर आधी रात को कुछ ग्रामीणों ने बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर की मूर्ति स्थापित कर दी थी। न्यायालय में भूमि को लेकर चांदमल व नगर पंचायत के बीच विवाद चल रहा था। पुलिस प्रशासन जब मूर्ति हटाने आया तो ग्रामीण सामने आ गए जिससे दोनों पक्षों में आने पर पथराव और लाठीचार्ज हुआ। आखिरकार पुलिस मूर्ति हटाने में सफल हो गई थी।

20 महिलाओं समेत 34 पर मुकदमा
इस विवादित मामले में लक्सर नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी एसपी जोशी की तहरीर पर 20 महिलाओं सहित 34 लोगों के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने व पथराव करने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया। कोतवाली प्रभारी जयदेव आर्य ने बताया कि सभी आरोपियों का मेडिकल कराने के बाद कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

अनुसूचित आयोग ने बताई प्रशासन की लापरवाही
अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष हरपाल सिंह साथी ने लक्सर गांव का मुआयना कर परिवारों से घटना की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि मामले में प्रशासन की लापरवाही सामने आ रही है।

पिछले 30 साल से है कब्जा
ग्रामीणों का पिछले 30 साल से उस जगह पर कब्जा है। जिस पर यदि ग्रामीणों ने अंबेडकर की मूर्ति स्थापित करके गलती कर दी थी तो प्रशासन को हैवानियत से काम नहीं लेना चाहिए था।

दोषियों के खिलाफ होगी कार्रवाई
उन्होंने लक्सर एसडीएम व पुलिस अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया। कहा कि ग्रामीण अनुसूचित आयोग में लिखित शिकायत करते हैं तो मामले की जांच कराकर दोषी आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button