UP में वायरल बुख़ार की आफत, मिले 1 हज़ार से ज़्यादा मरीज़

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में लगातार 2-3 दिन की हुई मुसलाधार बारिश के बाद मौसम ने अचानक से करवट बदली है। जिससे राजधानी में वायरल बुख़ार के मरीज़ों में बहुत बढ़ोतरी देखने को मिली है। शहर व ग्रामीण के इलाकों के सरकारी अस्पतालों की ओपीडी (OPD) में वायरल बुख़ार के तमाम मामले सामने आए हैं। बच्चो में भी बुख़ार के बहुत ज़्यादा मामले देखने को मिल रहे है। बारिश के बाद पानी भर जाने वाले इलाक़ों में वायरल बुख़ार की संख्या ज़्यादा देखीं गई है। इसमें फैजुल्लागंज, सरोजनीनगर, तेलीबाग, चिनहट, दाउदनगर, पारा के अलावा ग्रामीण इलाक़े भी शामिल हैं। ग्रामीण इलाक़ों में न ही बुख़ार की जांच हो पा रही है और न ही लोगों के लिए दवाई उप्लब्ध हो पा रही है। लखनऊ के सरकारी अस्पतालों की OPD में रोज़ाना बुख़ार के लगभग 200 से 300 मरीज़ देखने को मिल रहे है।

बुख़ार की वजह बना कुपोषण

लोकबंधु अस्पताल के डॉ. रूपेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि आर्थिक रूप से कमज़ोर तबके के लोग इस समय वायरल बुख़ार के ज़्यादा शिकार हो रहे हैं। इसकी बड़ी वजह पोषण की कमी है। इसके अलावा गंदगी में मच्छर पनपने से लोग डेंगू का शिकार भी होते हैं। ऐसे में आसपास सफाई रखें, पानी उबाल कर पियें और भरपूर न्यूट्रिशन लें।

 यह भी पढ़ें: संयुक्त राष्ट्र महासभा के अधिवेशन में भाषण देना चाहते हैं तालिबान: संयुक्त राष्ट्र

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)..

Related Articles