बॉडी में विटामिन बी 12 की कमी से बढ़ सकता है मौत का खतरा, ये है लक्षण

विटामिन बी 12 शरीर के नर्वस सिस्टम की कार्यप्रणाली को दुरुस्त बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. शरीर में इसकी कमी कई स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म देती है और मस्तिष्क को भी गंभीर नुकसान पहुंचता है. अगर समय रहते इसकी कमी की ओर ध्यान नहीं दिया गया तो आगे चलकर यह असमय मौत का कारण भी बन सकता है. शरीर में विटामिन बी 12 की कमी एक अलग किस्म की एनीमिया को जन्म दे सकता है, जिसे मेगालोब्लास्टिक एनीमिया कहा जाता है.
मशहूर अमेरिकी हेल्थ एक्सपर्ट Dr. Mercola ने कुछ समय पहले भारत में एक अध्ययन किया था. इस स्टडी में भारत के करीब 80 फीसदी वयस्कों में ऐसे विटामिन की कमी पाई गई जो जीवन के लिए खतरनाक हो सकती है और यह विटामिन है बी 12. हैरत की बात तो यह है कि अधिकांश लोगों को सालों तक शरीर में इस विटामिन की कमी होने का पता ही नहीं चलता है और जब पता चलता है तक काफी समय बीत चुका होता है.
चलिए जानते हैं विटामिन बी 12 की कमी होने पर शरीर में कौन से लक्षण दिखाई देते हैं, ताकि समय रहते इसकी कमी को पूरी किया जा सके.

विटामिन बी 12 की कमी के लक्षण-

  • बॉडी में इस विटामिन की कमी होने पर शरीर का वजन तेजी से घटने लगता है.
  • विटामिन बी 12 की कमी होने पर दिल की धड़कने पहले की अपेक्षा तेज हो जाती हैं.
  • सांस फूलने की तकलीफ विटामिन बी 12 की कमी की ओर इशारा करती है.
  • शरीर में हरदम थकान और कमजोरी महसूस होना विटामिन बी 12 का लक्षण है.
  • विटामिन बी 12 की कमी से कब्ज, लूज मोशन और पेट खराब होने की समस्या हो सकती है.
  • इसकी कमी के चलते याददाश्त कमजोर होती है और सिरदर्द की समस्या बनी रहती है.
  • शरीर में खून की कमी होना विटामिन बी 12 की कमी का संकेत हो सकता है.
  • हाथ-पैर में झनझनाहट, जलन और ठंड के अलावा जोड़ों में दर्द होना इसका लक्षण हो सकता है.
  • चलने में लड़खड़ाहट और गिरने का डर, विटामिन बी 12 की कमी का संकेत हो सकता है.
  • मुंह में बार-बार छाले आना और होंठों के किनारे कट-पिट जाना भी इसका लक्षण हो सकता है.
गौरतलब है कि शरीर में इस विटामिन की कमी को दूर करने के लिए अपने आहार में दूध, दही, अंडा, चिकन और मछली जैसी चीजों को शामिल करें. इसके अलावा विटामिन बी 12 सप्लीमेंट की मदद से भी इसकी कमी को पूरी किया जा सकता है.
नोट- इस लेख में दी गई तमाम जानकारियों को केवल सूचनात्मक उद्देश्य से लिखा गया है. इसकी वास्तविकता, सटीकता और विशिष्ट परिणाम की हम कोई गारंटी नहीं देते हैं. इसमें दी गई जानकारियों को किसी बीमारी के इलाज या चिकित्सा सलाह के लिए प्रतिस्थापित नहीं किया जाना चाहिए. इस लेख में बताए गए टिप्स  पूरी तरह से कारगर होंगे या नहीं इसका हम कोई दावा नहीं करते है, इसलिए किसी भी टिप्स या सुझाव को आजमाने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें.

Related Articles