वोडाफोन आइडिया ने फ्रैंकलिन टेम्पलटन को दिया 103 करोड़ रुपये का ब्याज

दूरसंचार कंपनी वोडाफोन आइडिया ने फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड को 103 करोड़ रुपये का ब्याज भुगतान किया है। यह राशि निवेशकों को अलग-अलग पोर्टफोलियो में उनके निवेश के हिसाब से बांटी जाएगी।

दरअसल वोडाफोन आइडिया में छह योजनाओं द्वारा कंपनी ने निवेश किया था। ये योजनाएं निम्नलिखित हैं।
फ्रैंकलिन इंडिया अल्ट्रा शॉर्ट बांड फंड
फ्रैंकलिन इंडिया लो ड्यूरेशन फंड
फ्रैंकलिन इंडिया शॉर्ट टर्म इनकम प्लान
फ्रैंकलिन इंडिया क्रेडिट रिस्क फंड
फ्रैंकलिन इंडिया डायनामिक एक्यूरल फंड
फ्रैंकलिन इंडिया इनकम अपॉरच्यूनिटीज फंड
फ्रैंकलिन टेम्पलटन एमएफ ने दूरसंचार कंपनी में अपने निवेश को एक तरफ कर लिया था। जोखिम वाली संपत्ति को अन्य लिक्विड एसेट से अलग करना होता है। उसके बाद 24 जनवरी से वोडाफोन आइडिया द्वारा योजनाओं में जारी विभिन्न प्रतिभूतियों को कुल पोर्टफोलियो से अलग कर लिया गया।
इस संदर्भ में फ्रैंकलिन टेम्पलटन ने बयान में कहा है कि उसे वोडाफोन आइडिया लिमिटेड से 12 जून 2020 को 102.71 करोड़ रुपये का ब्याज भुगतान मिला है। यह राशि अलग रखे गए पोर्टफोलियो की योजनाओं में निवेशकों की होल्डिंग के अनुपात में इस राशि का वितरण किया जायेगा।
अप्रैल में बंद की थीं छह योजनाएं
मालूम हो कि अप्रैल में फ्रैंकलिन टेम्पलटन ने बॉन्ड बाजार में नकदी की कमी का हवाला देते हुए छह योजनाओं को स्वयं से बंद करने की पहल की थी। उन्होंने कहा था कि यह निर्णय ग्राहकों के हित को ध्यान में रखकर लिया गया है। हालांकि कंपनी ने यह स्पष्ट किया था कि योजनाओं को बंद करने का मतलब निवेशकों का पैसा डूबना नहीं है। फ्रैंकलिन टेम्पलटन एसेट मैनेजमेंट (इंडिया) के अध्यक्ष संजय सप्रे ने निवेशकों को भेजे एक संदेश में कहा कि, ‘जो योजनाएं बंद की गई हैं, हम उनके निवेशकों को जल्द से जल्द पैसा लौटाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। साथ ही यह हमारे ब्रांड में निवेश करने वालों के विश्वास को बहाल करने की भी कोशिश है।’

Related Articles