कोरोना संकटकाल के बावजूद मतदाताओं ने किया मतदान: शिवराज

चाैहान ने शांतिपूर्ण ढंग से मतदान संपन्न होने के बाद अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि जनता ने लोकतंत्र में विश्वास व्यक्त करते हुए मतदान को पवित्र कर्तव्य माना है.

भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज इस बात पर प्रसन्नता जाहिर की कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के बावजूद राज्य के 28 विधानसभा उपचुनावों में मतदाताओं ने उत्साहपूर्वक और बढ़चढ़कर मतदान में हिस्सा लिया.

चाैहान ने शांतिपूर्ण ढंग से मतदान संपन्न होने के बाद अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि जनता ने लोकतंत्र में विश्वास व्यक्त करते हुए मतदान को पवित्र कर्तव्य माना है. जिस तरह से लोगों ने मतदान किया, उससे लगता है कि कोरोना का भय और असर कहीं नहीं दिखा. कुछ स्थानों पर तो वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव से ज्यादा वोटिंग हुई है. यह हमारे लोकतंत्र की मजबूती का नमूना है.

चौहान ने कहा कि वे मतदाताओं के प्रति आभार प्रकट करते हैं. उन्होंने साथ ही दावा करते हुए कहा कि जितनी बंपर वोटिंग हुई है, उतनी बंपर भाजपा की जीत होगी. उन्होंने कहा कि वहीं कांग्रेस की बौखलाहट दिख रही है और उसने अभी से ईवीएम पर सवाल खड़े करने शुरू कर दिए हैं. बौखलाहट देखकर लगता है कि कांग्रेस ने अपनी पराजय स्वीकार कर ली है.

उन्होंने उपचुनाव के दौरान अधिकारियों कर्मचारियों को धमकाने का जिक्र करते हुए कहा कि अधिकारियों कर्मचारियों का भी मान सम्मान होता है. उनका अपमान नहीं किया जाना चाहिए.

मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश’ हमारा संकल्प है और हमने इसका रोडमैप तैयार कर लिया है. अब हम इस दिशा में तेजी से काम करना शुरू करेंगे.

यह भी पढ़े: चार कोरोना संक्रमित मरीजों ने पीपीई किट पहनकर अपने मताधिकार का किया प्रयोग

Related Articles

Back to top button