आतंक को वोट बैंक में नहीं तोलता :- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

नई दिल्ली: यूपी के सहारनपुर में अपनी चुनावी सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि उनकी नर्म नीतियों की वजह से देश में आतंकवाद बढ़ा

अपने चुनावी दौरे पर प्रधानमंत्री मोदी आज तीन शहरों में रैलियों को संबोधित करेंगे। इसकी शुरुआत यूपी के अमरोहा से हुई है जिसके बाद प्रधानमंत्री सहारनपुर जाएंगे और फिर वहां से उत्तराखंड के देहारदून में सभा को संबोधित करेंगे।

मोदी ने कहा कि, कल ही संयुक्त अरब अमीरात ने आपके इस प्रधानसेवक को वहां का सबसे बड़ा सम्मान ‘जायद मैडल’ देकर सम्मानित किया है। ये सम्मान मेरा नहीं आप सबका और खाड़ी देशों में काम कर रहे करोड़ों भारतीयों का है। आज दुनिया के देशों में भारत का डंका बज रहा है, दुनिया भर में भारत की जय जयकार हो रही है। इसका कारण मोदी नहीं है। इसका कारण आप लोग हैं। 2014 में आपने जो वोट दिया उसकी ताकत है। ये पूर्ण बहुमत वाली सरकार की ताकत है।

मोदी आतंकवाद को लेकर बोले, देश की साख रहे, इसके लिए मजबूत सरकार का होना बहुत जरूरी है। मजबूत सरकार ही कड़े और बड़े फैसले ले पाती है, देश को आगे बढ़ा पाती है। आतंकियों को उन्हीं की बातों में जबाव देना, हमारे देश के ही कुछ लोगों को परेशान करता है। जब भारत डंके की चोट पर दुश्मन को मारता है, तब कुछ लोगों को हिंदुस्तान में रोना आता है। कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी का आतंकवाद पर नर्म रवैये की वजह से कुछ लोगों के हौसले बुलंद हुए हैं। इन दलों ने सिर्फ आतंक को ही मदद नहीं दी है, इन्होंने आपके जीवन और अस्तित्व को भी संकट में भी डालने का काम किया है। मोदी आतंक को वोट बैंक में नहीं तोलता, सभी आतंक के मददगार आज जेलों में बंद पड़े हैं।

मोदी ने आगे कहा, बीते 5 वर्षों से धमाके रुके हैं, बम-बंदूकों की आवाज बंद हुई है। निर्दोष लोगों की जान जाना बंद हो गये। ये इसलिए हुआ है क्योंकि आपने दिल्ली में चौकीदार को बैठा रखा है। आतंकियों को पता है कि वो एक गलती भी करेंगे तो मोदी उन्हें पाताल में भी सबक सिखाएगा। देश को आगे बढ़ाना है, तो हम सबको साथ मिलकर चलना होगा। कुछ लोग देश को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं। अलग-अलग जातियों के नाम पर खाई पैदा कर रहे हैं। ऐसे लोगों के स्वार्थ को आप समझिए।

मोदी ने इसके बाद कांग्रेस पर निशाना साधते हुए मोदी बोले, सिर्फ एक परिवार की पहचान बनाने के लिए, प्रतिष्ठा के लिए, एक परिवार के स्वार्थ की सिद्धि के लिए कांग्रेस ने बाबा साहेब आंबेडकर का भी अपमान किया था। कांग्रेस ने उन्हें चुनाव में हराया था, देश के प्रति बाबा साहेब के योगदान को भुलाने की साजिश रची थी। बाबा साहब ने उस परिवार को चुनौती थी, इसलिए बाद की पीढ़ियों ने भी बाबा साहेब से निरंतर बदला लिया। वो तो आज वोटबैंक की मजबूरी है, जो आज कांग्रेस बाबा साहब का नाम लेती है, वरना ये वही कांग्रेस है जिसने दशकों तक उनकी फोटो तक संसद में लगने नहीं दी थी।

Related Articles