बच्चों को सहनी पड़ती थी वहशी वार्डेन की करतूत, इस तरह खुला घिनौने कारनामों का राज

अहमदाबाद: अपने जिन जिगर के टुकड़ों को घर वालों ने अच्छी शिक्षा के लिए खुद से दूर किया, वो शारीरिक शोषण का शिकार हो रहे थे। वह भी उनकी जिम्मेदारी उठाने वाले वार्डेन के हाथों। यह मामला गुजरात के पाटन की है। यहां एक हॉस्टल का वार्डेन पर नाबालिग बच्चों के साथ कुकर्म करने का आरोप लगा है। यह आरोप भी किसी और ने नहीं, बल्कि खुद इन बच्चों ने ही लगाया है। बच्चों के आरोप के बाद पुलिस ने आरोपी वार्डेन को गिरफ्तार कर लिया है।

मिली जानकारी के अनुसार, हॉस्टल में रहने वाले नाबालिग बच्चों का आरोप है कि उनके हॉस्टल का वार्डेन अशोक आए दिन उनके साथ शारीरिक छेड़खानी और कुकर्म करता था। अशोक नाम के इस वार्डेन पर पांच से ज्यादा बच्चों के साथ इस घिनौने अपराध को अंजाम दिया है। बच्चों का आरोप है कि वार्डेन पहले पैर दबाने के बहाने पास बुलाता था और उसके बाद शारीरिक छेड़खानी शुरू कर देता था।

यह भी पढ़ें: Indian Army की बड़ी जीत, आतंकी संगठनों ने आतंकियों की सैलरी में की भारी कटौती

बताया जा रहा है कि इस हॉस्टल में करीब 20 बच्चे रहते हैं। ये सभी बच्चे गरीब परिवार से संबंध रखते हैं। वार्डेन पर आरोप है कि रविवार रात भी वार्डन ने एक बच्चे को अपने कमरे में बुलाया और उसके साथ कुकर्म किया। देर रात ही पीड़ित बच्चा वहां से भाग निकला और किसी तरह अपने घर पहुंचा। उसने अपनी मां को आपबीती सुनाई।

यह भी पढ़ें: राम रहीम के बाद अब राधे मां के भी काले कारनामों से उठा पर्दा, हाईकोर्ट ने कसा शिकंजा

इसके बाद पीड़ित बच्चे की मां ने हॉस्टल पर जाकर हंगामा काटा और पुलिस बुला ली। पीड़ित बच्चे ने पुलिस के सामने आपबीती सुनाते हुए कहा कि वह पिछले 14 महीनों से यहां रहा है। वार्डन किसी भी बहाने से उसे अपने बुलाता था और उसके साथ शारीरिक छेड़खानी करता था। रविवार

पुलिस ने पीड़ित परिजनों की शिकायत पर आरोपी वार्डन अशोक परमार के खिलाफ केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस पीड़ित बच्चों के बयान दर्ज कर रही है।

Related Articles

Back to top button