वसीम रिजवी ने कुरान पर फिर उठाये सवाल, PM को लिखा पत्र, बैन करने की मांग

लखनऊ: शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी एक बार फिर विवादों में हैं. इस बार फिर से उन्होंने अपने धार्मिक ग्रंथ कुरान को लेकर PM मोदी को चिट्ठी लिखी है. उन्होंने PM से कुरान को बैन करने की मांग की है. दरअसल उन्होंने पत्र में देश के प्रधानमंत्री से कहा है कि कुरान में दर्ज 26 आयातें आतंकवाद को बढ़ावा देने वाली हैं. उन्होंने कहा कि ये कथन अल्लाह के नहीं हो सकते, लिहाजा इसे मदरसों में पढ़ाए जाने पर प्रतिबंध लगाया जाए.

शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी ने  लिखा कि ‘कुरान की 26 आयतों में अत्यचार, धार्मिक उन्माद फैलाने वाली बातों का जिक्र है, इसलिए उन्होंने नई कुरान लिखी और प्रधानमंत्री को चिठ्ठी लिख मांग की है पुरानी को बैन करें. उन्होंने लिखा कि मेरे द्वारा कुरान का अध्ययन किया गया जिस में पाया गया कि कुरान ए मजीद में 26 लेख (आयत) ऐसी हैं जोकि अल्लाह का कथन नहीं हो सकता क्योंकि उक्त लेख (आयत) आतंकवाद/चरमपंथी/कट्टरपंथी मानसिकता को बढ़ावा देती है.’

रिजवी ने आगे पत्र में लिखा कि इन कुरान की आयतों के कारण मुस्लिम समाज में आतंकी विचारधारा पैदा हो रही है यही कारण है कि पूरे विश्व में मुस्लिम आतंकवाद चरम सीमा पर है गहन अध्ययन के बाद मेरे द्वारा पूर्व में लिखे गए व लिखवाए गए कुरान ए मजीद के सूरोह को सही क्रम में लगाया गया है और आतंकवाद को बढ़ावा देने वाली 26 आयतों को कुरान ए मजीद से हटा दिया गया है.

बता दें वसीम रिजवी ने इससे पहले सुप्रीम कोर्ट में कुरान से 26 आयतों को हटवाने संबंधी याचिका लगाई थी. रिजवी ने याचिका में कहा था कि कुरान की 26 आयतों से कट्टरता और आतंकवाद को बढ़ावा मिल रहा है. उन्होंने कहा था कि इन आयतों को बाद में कुरान में जोड़ा गया है. हालांकि कोर्ट ने उनकी इस याचिका को खारिज कर दिया था. कोर्ट ने रिजवी पर 50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया था. उनके इस कदम के बाद मुस्लिम समाज ने उनके खिलाफ काफी नाराजगी व्यक्त की थी.

ये भी पढ़ें : सपा नेता Aajam Khan की हालत नाजुक, ICU में भर्ती

Related Articles

Back to top button