भूस्खलन से मच रही तबाही उसपर मौसम भी ढा रहा कहर

0

देहरादून। उत्तराखंड में इधर कुछ दिनों से मानसून अलग-अलग रंग दिखा रहा है। तेज बारिश से पहाड़ी क्षेत्रों में तबाही का मंजर दिखाई देने लगता है तो वहीँ रिमझिम फुहारों से मैदानी क्षेत्रों में गर्मी से निजात दिलाता है। कई स्थानों पर हल्की और भारी बारिश का दौर जारी रहा है।

भूस्खलन

इन सब के अलावा मौसम का कहर जारी है तो वहीँ चारधाम यात्रा मार्ग का भी खुलने और बंद होने का सिलसिला चल रहा है। इसके साथ ही बारिश के कारण सड़के भी बंद पड़ी हुई हैं।

also read : राज्य में बदल रहा है मौसम का मिजाज, बढ़ रही हैं…

भूस्खलन से मची तबाही

राज्य में टिहरी जनपद के चमियाला बाजार में भूस्खलन की वजह से 12 दुकानों पर मलबा गिर गया है। इस वजह से दुकानें मलबे के नीचे आकर दब गयी हैं।

सूत्रों ने बताया कि जब ये हादसा हुआ उस समय दुकानों में कोई मौजूद नहीं था वरना काफी भयानक हो सकता था। वहीं चमोली जनपद में शाम से लामबगड़ के पास बद्रीनाथ हाईवे बंद पड़ा हुआ है। हालांकि इसे खोलने के प्रयास किये जा रहे हैं। वहीं  हेमकुंड यात्रा जारी है।

also read : राज्य में तेज बारिश का कहर जारी, हादसे का शिकार हुआ…

मलबा आने से हाईवे हुआ बंद

देर रात टनकपुर पिथौरागढ़ मार्ग पर धौन और बनलेख के बीच की पहाड़ी दरक गयी इसकी वजह से हाईवे यातायात के लिए मार्ग बंद हो गया। कई यात्री सड़क के दोनों तरफ फंसे हुए हैं। मलबा जो हटाने के लिए जेसीबी मशीन का उपयोग किया जा रहा है लेकिन, इसके बावजूद पहाड़ी दरकती जा रही है।

also read : मौसम विभाग का अलर्ट, झमाझम बारिश से हो सकता है जनजीवन…

इससे पहले कब आया था भूस्खलन

उत्तराखंड में वैसे तो आये दिन कोई न कोई हादसे सामने आते ही रहते हैं। कभी भारी बारिश से तबाही मच जाती है तो कभी भूस्खलन से लोग हताहत होते है। लेकिन पिछले साल की बात करें तो नैनीताल के गागर इलाके में भूस्खलन आया था। इस हादसे में 8 लोगों की मौत हो गयी थी।

loading...
शेयर करें