हम सैनिकों का बलिदान कभी नहीं भूलेंगे, शहीदों के परिवार के साथ पूरा देश खड़ा है: राजनाथ सिंह

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख में 20 भारतीय जवानों की शहादत के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का पहला बयान सामने आया है. राजनाथ सिंह ने गलवान घाटी में जवानों की शहादत को दुखदायी बताया है. उन्होंने कहा, “हम सैनिकों का बलिदान नहीं भूलेंगे. पूरा देश शहीद सैनिकों के साथ खड़ा है.”

रक्षा मंत्री ने ट्वीट कर कहा, “सैनिकों की शहादत परेशान करने वाली और दुखदायी है. हमारे जवानों ने जबरदस्त बहादुरी दिखाई और देश के लिए शहीद हुए. देश उनकी बहादुरी और बलिदान को कभी नहीं भूलेगा. शहीदों के परिवारवालों के साथ पूरा एक साथ खड़ा है.”

विपक्ष ने सरकार को घेरा
चीन के साथ हिंसक झड़प के बाद से विपक्ष लगातार सरकार पर निशाना साध रहा है. कांग्रेस के नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि 20 जवानों के शहादत से पूरे देश में भारी रोष है. पूरे देश को हमारे वीर सपूतों के शौर्य पर गर्व है उन्होंने अपने प्राणों की आहुति दें भारत मां की अस्मिता की रक्षा की है.चीनी सेना के इस दुस्साहस पर पीएम और मोदी सरकार ने मौन साध लिया है.

सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी, कांग्रेस पार्टी व पूरा प्रतिपक्ष पर बार-बार केंद्र सरकार से गुहार लगाते रहें कि कुछ बताए कि आखिर बॉर्डर पर परिस्थितियां क्या हैं? चीन की सेना ने हमारी सरहदों में कहां तक कब्ज़ा कर लिया है और हमारी कितनी ज़मीन हड़प ली है.?

चीन के साथ हिंसक झड़प में शहीद हुए कर्नल संतोष बाबू का अंतिम संस्कार कल सुबह किया जाएगा. कर्नल के साथ 20 और सैनिक शहीद हुए हैं. बता दें कि चीन की इस कायराना हरकत के बाद में पूरे देश में गुस्से का माहौल है. हर तरफ से चीन को मुंहतोड़ जहाब देने की मांग उठ रही है.

Related Articles