West Bengal Election: ममता बनर्जी ने लिखी चिट्ठी, बोलीं- ‘चुनाव आयोग केवल BJP की बातें सुन रहे हैं’

बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि हम हर दिन चुनाव आयोग से शिकायत कर रहे हैं लेकिन वे हमारी बात नहीं सुन रहे

कोलकाता: पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने राष्ट्रीय राजधानी राज्यक्षेत्र शासन (संशोधन) कानून 2021 के विरोध में सोनिया गांधी, शरद पवार, एम.के. स्टालिन, तेजस्वी यादव, उद्धव ठाकरे, अरविंद केजरीवाल, नवीन पटनायक को पत्र में लिखा है।, उन्होंने पत्र में लिखा, मेरा मानना ​​है कि लोकतंत्र और संविधान पर भाजपा के हमलों के खिलाफ एकजुट होकर प्रभावी ढंग से संघर्ष करने का समय आ गया है।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने कहा कि हम हर दिन चुनाव आयोग से शिकायत कर रहे हैं लेकिन वे हमारी बात नहीं सुन रहे। वे केवल भाजपा (BJP) की बातें सुन रहे हैं।

Image

दूसरे चरण का मतदान

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में दूसरे चरण का मतदान 1 अप्रैल को हाेगा, तीसरे चरण का मतदान- 6 अप्रैल, चौथा- 10 अप्रैल, पांचवां चरण- 17 अप्रैल, छठा चरण- 22 अप्रैल, सातवां चरण- 26 अप्रैल, आठवें चरण का मतदान- 29 अप्रैल को होगा।

पश्चिम बंगाल के हुगली (Hooghly) में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी.नड्डा  ने जनसभा को संबोधित करते हुए बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) पर बाटला हाउस (Batla House) फेक एनकाउंटर पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि बाटला हाउस फेक एनकाउंटर(Batla House Fake Encounter) है और अगर ये फेक एनकाउंटर नहीं हुआ तो मैं राजनीति छोड़ दूंगी, अब कोर्ट ने कहा कि आरिज खान आतंकवादी है और उसके खिलाफ कार्रवाई की गई। ममता जी अब आप राजनीति छोड़ेंगी क्या?

महिलाओं के अपहरण

जे.पी.नड्डा ने जनसभा यह भी बोला कि बंगाल महिलाओं के अपहरण, उन पर एसिड अटैक, हत्या के प्रयास में पहले नंबर पर है। बंगाल में महिलाओं के साथ घरेलू हिंसा 35% बढ़ी है। मां, माटी, मानुष कहने वाले लोगों ने बंगाल की बहनों की क्या चिंता की?

यह भी पढ़ेपरंपरा या विवशता? जान कर होगी काफी हैरानी, इस गांव में 5 दिनों तक औरतों को रहना पड़ता है निर्वस्त्र

Related Articles