कपिल सिब्बल ने ट्विटर पर ऐसा क्या लिख दिया कि लगाए जाने लगे कांग्रेस हाईकमान से नाराजगी के क़यास

नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी के भीतर पार्टी अध्यक्ष पद को लेकर हो रहे घमासान के बाद बीते दिन यानी कि सोमवार को सीडब्ल्यूसी की बैठक में तय किया गया कि कांग्रेस की वर्तमान अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी अगले 6 महीनों तक पद पर बनी रहेंगी. कल 11:00 बजे शुरू हुई सीडब्ल्यूसी की बैठक मैं पूरे दिन गहमागहमी बनी रही. 23 पार्टी नेताओं द्वारा कांग्रेस के नेतृत्व में बदलाव को लेकर लिखी गई चिट्ठी पर पार्टी के अंदर दो राय साफ दिखाई दे रही थी. इसके बाद आज पार्टी के वरिष्ठ नेता व वकील कपिल सिब्बल ने एक ट्वीट किया है जिससे अटकलें तेज हो गई हैं कि जिसमें उन्होंने लिखा है, यह किसी पद के बारे में नहीं है , मेरे देश के बारे में जो सबसे अहम है .”

फिलहाल उनके इस ट्वीट से यह अंदाजा नहीं लगाया जा सकता कि उन्होंने अपने ट्वीट में किसको घेरने की कोशिश की है.

बीते दिन सीडब्ल्यूसी की मीटिंग में 23 नेताओं द्वारा चिट्ठी लिखने से राहुल गांधी और प्रियंका नाराज दिखी उन्होंने कहा की यह चिट्ठी इसी समय क्यों लिखी गई है. बता दें कि बीते दिन कपिल सिब्बल ने ट्वीट कर कहा था कि उन्होंने पिछले लगभग 30 वर्षों में भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में कोई भी बात नहीं बोली है. इसके बाद भी हम पर बीजेपी के साथ मिलीभगत करने का आरोप लग रहा है. सिब्बल ने ट्वीट करते हुए कहा था कि, मैंने नेता के अलावा एक वकील के रूप में कांग्रेस की काफी समय से सेवा की है. मणिपुर में भाजपा को सत्ता से बेदखल करने के लिए मैंने पार्टी का पक्ष रखा था इसके बाद भी हम पर बीजेपी से सांठगांठ के आरोप मढ़े जा रहे हैं.

इसके इसके बाद कपिल सिब्बल ने एक दूसरा ट्वीट करके बताया कि राहुल गांधी से मेरी बात हुई है . उन्होंने मुझे बताया कि मीटिंग में ऐसी कोई भी बात नहीं हुई है इसके बाद मैंने अपने पुराने ट्वीट वापस ले लिए हैं.

गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी के सीडब्ल्यूसी में फैसला किया गया कि 6 महीनों के अंदर पार्टी के नए अध्यक्ष का चुनाव करने तक सोनिया गांधी कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष बनी रहेंगी.

Related Articles