धरती के सबसे नजदीक से होकर गुजरेगा ये क्षुद्रग्रह, क्या कहता है NASA

नई दिल्ली: नासा के अनुसार एक संभावित रूप से तरनाक क्षुद्रगृह मंगलवार को धरती के पास से गुजरेगा। 2011 ईस-4 नाम का यह गृह क्षुद्रगृह चांद से भी ज्यादा करीब से पृथ्वी के पास से गुजरेगा।

 

धरती से गुजरेगा क्षुद्रगृह

हमारी धरती पर रोजाना अंतरिक्ष से हजारों-लाखों धूलकण गुजरा करते हैं। लेकिन कभी-कभी धरती से पास से गुजरने वाले उल्कापिंड और क्षुद्रग्रह बड़ी चट्टानें खतरा बनकर निकल जाती है। ऐसा ही एक खतरा मंगलवार को धरती के बिल्कुल पास से फिर गुजरने वाला है। यह क्षुद्रग्रह चंद्रमा और पृथ्वी के बीच की दूरी से भी कम दूरी से गुजरेगा।

45,000 मील की दूरी से गुजरेगा क्षुद्रग्रह 

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने बताया कि इस क्षुद्रग्रह का नाम 2011 ईएस3 है। नासा के मुताबिक अगले एक दशक तक पृथ्वी के पास से गुजरने वाले क्षुद्रग्रहों में से यह सबसे पास से गुजरेगा। नासा के जेट प्रॉपल्शन लैबोरेटरी का कहना है कि इससे पहले यह क्षुद्रग्रह साल 2011 में 13 मार्च को पृथ्वी के सबसे नजदीक से होकर गुजरा था। उस समय यह पृथ्वी के से 4,268,643 किलोमीटर दूर से गुजरा था। इस बार चिंता इस बात को लेकर है कि यह क्षुद्रग्रह धरती से केवल 45,000 मील की दूरी से गुजरेगा। वहीं इस खगोलीय पिंड का आकार 22 से 49 मीटर के बीच बताया जा रहा है।

Related Articles

Back to top button