यूपी सरकार की अनलॉक 5 गाइडलाइन में जाने क्या खुला है? क्या बंद?

यूपी सरकार की अनलॉक 5 गाइडलाइन में जाने क्या खुला है? क्या बंद?

लखनऊ: एक तरफ कोरोना वायरस का प्रकोप दूसरी तरफ जन जनसामान्य को पटरी पर लाने की कवायद दोनों एक साथ चल रही हैं। केंद्र सरकार के दिशा निर्देशों के बाद सूबे की योगी सरकार ने भी अनलॉक 5 की गाइड लाइन जारी कर दी हैं। प्रदेश सरकार ने नई गाइडलाइन में केंद्र के दिशा निर्देशों को ही लागू करने का फैसला किया है। हालांकि कंटेनमेंट जोन्स में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाई गई है और अन्य क्षेत्रों में अधिक गतिविधियों को मंजूरी दी गई है। योगी सरकार ने भी केंद्र के दिशा-निर्देश की तरह ही फेज वाइज तरीके से 15 अक्टूबर के बाद स्कूलों और कोचिंग संस्थानों को फिर से खोले जाने की अनुमति दे दी है। इसमें ऑनलाइन या डिस्टेंस एजुकेशन के तरीके को प्राथमिकता दी जाएगी और इन्हें प्रोत्साहित किया जाएगा।

गाइडलाइन में ये कहा गया है कि स्कूल जहां ऑनलाइन कक्षा के जरिये छात्रों को पढ़ा रहे हैं, अगर कुछ छात्र स्कूल में उपस्थित होने के बजाय ऑनलाइन माध्यम से ही पढ़ना चाह रहे हैं तो उन्हें ऐसा करने की अनुमत्ती दी जा सकती है। अगर वे स्कूल आना चाहता हैं तो इसकी सहमति अभिभावकों से लिखित लेलें। गाइड लाइन में प्रदेश सरकार ने फेस कवर, सोशल डिस्टेंसिंग पर जोर दिया है। कोरोना रोकथाम के उपाय का उल्लंघन करने कानूनी कार्रवाई की बात भी कही गई है।

Read it also : Gandhi Jayanti: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 151वीं जयंती, जानें इतिहास

स्‍वीमिंग पूल भी 15 से खुलेंगे –

स्‍वीमिंग पूल को सोपर्ट्स पर्सन्स के प्रशिक्षण हेतु युवा कल्याण एवं खेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा जारी किए जाने वाले निर्धारित मानकों के अनुसार 15 अक्टूबर से खोले जाने की अनुमति होगी।

सेंट्रल होम मिनिस्ट्री ने नई गाइड लाइन में कहा –

गृह मंत्रालय ने कन्टेनमेंट क्षेत्रों के बाहर के इलाकों में और गतिविधियों की अनुमति देने के लिए अनलॉक 5 की नई गाइडलाइन जारी की। इसमें केन्द्र की अनुमति वाली यात्रा को छोड़कर इंटरनेशनल उड़ाने प्रतिबंधित रहेंगी। मिनिस्ट्री ने एक बयान में कहा कि कन्टेनमेंट क्षेत्रों के बाहर के इलाकों में 15 अक्टूबर से कुछ गतिविधियों की अनुमति दी गई है जिनमें सिनेमा, थियेटर और मल्टीप्लेक्सों को उनके बैठने की क्षमता के 50 प्रतिशत के साथ खोला जा सकता है और इसके लिए सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की जाएगी।

 

Related Articles