अफगानिस्तान में तालिबान संकट पर क्या होगा भारत का रुख? सर्वदलीय बैठक जारी

इससे पूर्व जयशंकर ने बताया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विदेश मंत्रालय को विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं को यह जानकारी देने का निर्देश दिया है।

नई दिल्ली: केंद्र सरकार की अफगानिस्तान के घटनाक्रम को लेकर सर्वदलीय बैठक शुरू हो गई है। जहां विदेश मंत्री एस जयशंकर राजनीतिक पार्टियों के संसदीय दलों के नेताओं को अफगानिस्तान की मौजूदा स्थिति से अवगत कराएंगे।

राजनीतिक पार्टियों के संसदीय दलों के नेताओं को विदेश मंत्री डा. एस जयशंकर द्वारा अफगानिस्तान की वर्तमान स्थिति के बारे में मुख्य समिति कक्ष, संसद भवन सौंध, नई दिल्ली में जानकारी दी जा रही है। बता दें कि ईमेल के जरिए आमंत्रण भेजे गए थे। जिसमें संबंधित लोगों से शरीक होने का अनुरोध किया गया था.वहीं, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस के प्रतिनिधि बैठक में शामिल होंगे। तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख बनर्जी ने कोलकाता में राज्य सचिवालय में संवाददाताओं से कहा, हम निश्चित रूप से अफगानिस्तान के संबंध में बृहस्पतिवार को होने वाली सर्वदलीय बैठक में शामिल होंगे।

विदेश मंत्री ने ट्वीट कर दी जानकारी

इससे पूर्व जयशंकर ने बताया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विदेश मंत्रालय को विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं को यह जानकारी देने का निर्देश दिया है। जयशंकर ने ट्वीट किया, अफगानिस्तान में घटनाक्रम को देखते हुए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विदेश मंत्रालय से कहा है कि वह विभिन्न पार्टियों के संसदीय दलों के नेताओं को इस संबंध में जानकारी दें। संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी आगे की जानकारी देंगे।

सरकार की ब्रीफिंग अफगानिस्तान से लोगों की निकासी के अभियान पर केंद्रित रहने की उम्मीद है तथा इसमें वहां के हालात को लेकर सरकार के आकलन की भी जानकारी दी जा सकती है। अफगानिस्तान से लोगों को निकालने के अभियान के तहत भारत सिख और हिंदू समुदाय के अफगान समेत करीब 730 लोगों को यहां ला चुका है।

अफगानिस्तान से निकालकर लाए गए 146 भारतीय नागरिक कतर की राजधानी से चार अलग-अलग विमानों के जरिये सोमवार को भारत पहुंचे। इन नागरिकों को अमेरिका और उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) के विमान के जरिए पिछले कुछ दिन में काबुल से दोहा ले जाया गया था। भारत तीन उड़ानों के जरिए दो अफगान सांसदों समेत 392 लोगों को रविवार को देश वापस लाया था।

यह भी पढ़ें: राष्ट्रपति कोविंद आज से चार दिवसीय UP दौरे की करेंगे शुरुआत

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles