Whatsapp गोपनीयता: ‘मोबाइल पर व्हाट्सएप Download करना आपकी मर्जी’

व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर दिल्ली उच्च न्यायालय ने कहा कि मोबाइल पर व्हाट्सएप डाउनलोड करना अनिवार्य नहीं है, यह स्वैच्छिक है

नई दिल्ली: व्हाट्सएप (Whatsapp) की नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर दिल्ली उच्च न्यायालय ने सुनवाई करके हुए कहा कि अपने मोबाइल पर व्हाट्सएप डाउनलोड करना अनिवार्य नहीं है, यह स्वैच्छिक है। आप अपने मोबाइल फोन में व्हाट्सएप डाउनलोड करें या न करें यह आपकी मर्जी है।

हाईकोर्ट का बयान

दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि अपने मोबाइल पर व्हाट्सएप डाउनलोड करना अनिवार्य नहीं है, यह स्वैच्छिक है, दिल्ली उच्च न्यायालय ने याचिकाकर्ताओं को व्हाट्सएप द्वारा अद्यतन गोपनीयता नीति के खिलाफ निषेधाज्ञा के लिए निर्देश देने की मांग की है।

 

कुछ दिनों पहले ही व्हाट्सएप की नई पॉलिसी को लेकर यूजर्स में हड़कंप मच गया था। लोगों को डर हो गया था कि कहीं उनकी प्राइवेसी भंग न हो जाए। यूजर्स गोपनीयता भंग होने के डर से सिग्नल मैसेंजर (Signal Messenger) को धड़ल्ले से डाउनलोड करने लगे थे।

नया अपडेट ऑप्शन

आपकि जानकारी के लिए यह बता दें कि व्हाट्सएप ने यूजर्स (Users) के पास एक नोटिफिकेशन भेज कर अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार करने को कहा था। जिसके बाद काफी ज्यादा बवाल हुआ और दबाव पड़ने के बाद व्हाट्सएप ने इस बदलाव को टाल दिया। व्हाट्सएप ने सफाई देते हुए अपने बयान में कहा था कि 8 फरवरी को किसी को भी व्हाट्सएप अकाउंट सस्पेंड या डिलीट नहीं करना होगा। इसके साथ ही कंपनी ने बोला कि व्हाट्सएप पर प्राइवेसी और सिक्योरिटी कैसे काम करती है, इसके बारे में जानकारी देने के लिए हम और भी बहुत कुछ करने जा रहे है। 15 मई को नया अपडेट ऑप्शन उपलब्ध होने से पहले हम अपनी पॉलिसी के बारे में लोगों का भ्रम पूरी तरीके से दूर कर देंगे।

व्हाट्सएप के Spokesman का बयान

व्हाट्सएप के Spokesman ने कहा था कि हमारा मकसद पारदर्शिता को बरकरार रखना है और नए विकल्प बिजनसेज को इंगेज रखने के लिए हैं ताकि वे अपने ग्राहकों की सेवा कर सकें और आगे बढ़ सकें। व्हाट्सएप हमेशा पर्सनल मेसेजे को ऐंड-टू-ऐंड इनक्रिप्शन के साथ सुरक्षित रखेगा ताकि फेसबुक (Facebook)  या व्हाट्सएप कोई भी उन्हें ना देख सके। हम भ्रामक जानकारी को दूर करने पर काम कर रहे हैं।

यह भी पढ़े11th National Voters Day: जानें कब हुई थी इसकी शुरूआता, मिलेगा Digital Gift

क्यों हुई थी याचिका दायर

व्हाट्सएप कंपनी की नई प्राइवेसी पॉलिसी के खिलाफ याचिकाकर्ताओं ने दिल्ली उच्च न्यायालय में याचिका दायर की गई थी। जिसके लिए कोर्ट ने आज अपना फैसला सुनाया है। इस मामले पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने अपनी टिप्पणी देते हुए कहा कि किसी भी व्यक्ति के लिए अपने मोबाइल पर व्हाट्सएप डाउनलोड करना जरूरी नहीं है। यह स्वैच्छिक है। अर्थात मोबाइल फोन में व्हाट्सएप डाउनलोड करना या न करना आपकी मर्जी है।

 यह भी पढ़ेUnited Nations ने Pakistan को दिया बड़ा झटका, अब क्या करेगा पाकिस्तान

Related Articles